4 साल के मासूम बच्चे के लिए मां की हुई रोज सुहागरात, पर बदलते गए पति

उत्तर प्रदेश: यूपी के आगरा के एक महिला को अपने पति से करीब पांच महीने पहले झगड़ा करना भारी पड़ेगा महिला ने सोचा नहीं था। दरअसल, पश्चिम बंगाल के नाथ 24 परगना जिले की रहने वाली महिला का ससुराल आगरा में था। करीब पांच महीने पहले पति से झगड़ा करके अपने चार साल के बेटे को लेकर महिला अपने मायके जाने के लिए निकल गई।

जब ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पहुँची तो वहाँ पहले से मौजूद महिला के साथ खड़े लोगो ने उसे दिल्ली जाने वाली ट्रेन में बैठाकर उसे दिल्ली के रेड लाइट एरिया ले आये। पहले तो वो कुछ समझ नहीं पाई लेकिन जल्द ही सारी तस्वीर साफ हो गयी। जब महिला वहाँ से निकलने की कोशिश की तो उसके बच्चे को अपने कब्जे में कर लिया। और बच्चे को जान मारने की धमकी देने लगे।

फिर महिला को आगरा के थाना छत्ता के रेड लाइट एरिया में एक कोठे को बेच दिया गया। महिला के बच्चे से दिन में एक बार वीडियो कॉलिंग के जरिये बात कराई जाती थी। वही पत्नी की कुछ खबर नहीं मिलने पर उसके पति ने पश्चिम बंगाल में अपने ससुराल संपर्क किया लेकिन वहाँ से उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। फिर महिला की तलाश शुरू हुई।

फिर जाकर महिला के आगरा में होने के सुराग मिले। जिसके बाद महिला को बचाने के लिए पुलिस का सहारा लिया गया। एसएसपी अमित पाठक ने ऑपरेशन रेड लाइट को पूरा कर महिला को खोजने के लिए एक टीम का गठन किया और बेहद ही गोपनीय तरीके से महिला को बरामद कर लिया। क्यूंकि बच्चा अभी भी उनके कब्जे में था।

जिसके बाद एसएसपी द्वारा गठित टीम ने मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लेकर दिल्ली के ठिकाने के बारे में जानकारी जुटाई और दबिश देकर बच्चे को मुख्त कराया। वही पुलिस महिला और बच्चे को बचाकर काफी खुश है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …