चीन में अकेले कोरोनावायरस से 41 लोगो की मौत, क्या चीनी सांप है इस रहस्यमयी कोरोनावायरस की जड़

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोनावायरस को लेकर हर रोज नई जानकारियां सामने निकल कर आ रही हैं। सामने आई जानकारी के मुताबिक, चीनी कोबरा और चीनी क्रेट नामक प्रजातियां कोरोनावायरस के लिए जिम्मेदार माने जा रहे हैं। आशंका जताई जा रही है कि चीनी सांप की वजह से ही यह रहस्यमयी वायरस फैला है और लोगों को अपना शिकार बना रहा है।

ताइवानी क्रेट के रूप में पाए जाने वाले एलेपिड सांपों की एक सबसे ज्यादा जहरीली प्रजाति दक्षिणी चीन, दक्षिण पूर्व एशिया तथा मध्य में पाई जाती है। कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला 2019 के दिसंबर के आखिर में चीन के वुहान शहर में देखने को मिला था। इसके बाद यह आग की तरह फैलने लगा।

इस रहस्यमयी वायरस ने चीन के अलावा पड़ोसी देशों के लोगों को भी संक्रमित कर दिया है। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नए कोरोनावायरस को 2019-nCoV नाम दिया है। जब वैज्ञानिकों ने कोरोनावायरस के प्रोटीन कोड की जांच की तो सामने पाया कि वायरस के प्रोटीन कोड सांपों में पाए जाने वाले प्रोटीन के समान है।

यह रिजल्ट चौकाने वाले थे। शोधकर्ताओं ने कोरोनावायरस प्रोटीन कोड को इंसान, सांप, मर्मोट, हेजहॉग, मैनिस और चमगादड़ में पाए जाने वाले प्रोटीन कोड से तुलना की जिसके बाद यह रिजल्ट सामने आया।

बतादे कि भारत में पहले ही कोरोनावायरस के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने विदेश मंत्रालय से 31 दिसंबर से अब तक भारतीय वीजा आवेदन करने वाले लोगों की सूची मांगी है। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि इन सभी लोगों से संपर्क किया जाए और उन्हें इस बारे में अवगत कराया जाए।

वही इस जानलेवा संक्रमण बीमारी से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने नागर विमानन मंत्रालय को दिल्ली, मुंबई चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता बेंगलुरु और कोचीन हवाई अड्डे पर मुसाफिरों की थर्मल स्क्रीनिंग करने के लिए लेटर लिखा है।

Check Also

पाकिस्तान प्लेन क्रैश का वीडियो आया सामने, 2 लोगो के जिन्दा होने की खबर

शुक्रवार को पाकिस्तान इंटरनेशनल की फ्लाइट A320 लैंडिंग से ठीक पहले दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी। …