लॉकडाउन के बीच झारखंड लातेहार में 5 साल की मासूम बच्ची की भूख से हुई मौत, 3 दिन से घर में नहीं था अनाज का एक भी दाना

लॉकडाउन के बीच झारखंड के लातेहार से एक बेहद ही मायूस करने वाली खबर सामने आई है। मिली जानकारी के मुताबिक लातेहार के मनिका प्रखंड के हेसातु गांव में रहने वाली एक 5 साल की बच्ची की भूख की वजह से मौत हो गई। परिवार वालों का कहना है की उनके घर में अनाज नहीं होने से 3 दिन से चूल्हा नहीं जल पाया है जिसकी वजह से उनकी बेटी की भूख से मौत हो गई है।

न्यूज़ 18 में छपी खबर के अनुसार, परिवार ने बताया है कि घर में अनाज का एक भी दाना ना होने की वजह से चूल्हा नहीं जल सका है उससे पहले किसी तरह पड़ोसियों से अनाज मांग कर अपना पेट भर रहे थे। लेकिन पिछले 3 दिन से घर में अनाज का एक भी दाना नहीं होने की वजह से चूल्हा नहीं जल पाया। जिसकी वजह से उनके बच्ची की भूख से मौत हो गई।

घटना की खबर शनिवार को सामने आते ही झारखंड जिला प्रशासन हरकत में आ गया। प्रशासन ने शनिवार रात को पीड़ित परिवार के घर जाकर राशन पहुंचाया है। इस मामले की तहकीकात करने रविवार को हेसातु गांव पहुंचे एसडीम सागर कुमार ने बताया कि भूख की वजह से बच्चे की मौत नहीं हुई है बल्कि बच्ची को लू लगने और बीमार होने का शक है एसडीएम ने बताया कि पीड़ित परिवार को सरकारी सेवाएं दी जाएंगी।

मनरेगा वाच समिति के मेंबर ज्यां द्रेज ने इस मौत का जिम्मेदार जिला प्रशासन को ठहराया। कहा कि सरकार का गरीबों को राशन देने का दावा खोखला साबित हुआ है। जरूरतमंदों तक अनाज नहीं पहुंचने से बच्चे मर रहे है। वही पीड़ित परिवार के पास राशन कार्ड भी नहीं है जिसकी वजह वह सरकारी लाभों से वंचित है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …