कोरोना जैसी भयंकर बीमारी के बीच दिल्ली एम्स के 64 डॉक्टरों ने 24 घंटे तक करी सर्जरी, 2 साल की जुड़वां बहनों को किया अलग

0

उत्तर प्रदेश के बदायूं की रहने वाली जुड़वा बच्चियों का दिल्ली एम्स के 64 डॉक्टरों ने 24 घंटे सर्जरी के बाद दोनों को अलग करने में सफल हो गए। इन दोनों जुड़वा बच्चियों की सबसे हैरानी वाली बात यह रही थी उनके कूल्हे भी आपस में जुड़े थे। यहां तक की रीढ़ की हड्डी और पैरों की नसें भी एक थी। जिससे डॉक्टरों के सामने चुनौती थी।

शुक्रवार सुबह 8 बजे से शनिवार सुबह 9 बजे तक चली सर्जरी में दोनों बहनों को डॉक्टरों के अथक प्रयासों के बाद सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया है। हालांकि दोनों बच्चियों को अभी वेंटिलेटर पर रखा गया है। डॉक्टरों का कहना है कि बच्चियों की हालत नाजुक बनी हुई है लेकिन उन्हें भरोसा है कि वह जल्दी ही स्वस्थ हो जाएँगी।

मिली जानकारी के अनुसार, 2 साल की जुड़वां बच्ची एम्स में पिछले डेढ़ साल से भर्ती थी। दोनों बच्चियों के कूल्हे और पेट आपस में जुड़ने के अलावा उनकी आंत भी एक-दूसरे से जुड़ी हुई थी। इस लिए डॉक्टरों को सर्जरी में लंबा समय लगा।

दिल्ली एम्स के बालरोग सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. मीनू वाजपेयी ने बताया कि फिलहाल दोनों बच्चियों को सफलतापूर्वक अलग किया जा चुका है और उनकी डॉक्टरों द्वारा निगरानी की जा रही है।

इस जटिल सर्जरी में दिल्ली एम्स के पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजी, पीडियाट्रिक सर्जरी, एनेस्थीसिया, रेडियोलॉजी, सीटीवीएस के अलावा रेजीडेंट डॉक्टर नर्स स्टाफ को मिलाकर 64 से अधिक लोगों की टीम ऑपरेशन में जुटी थी। 8-8 घंटे की शिफ्ट बनाकर तीन अलग-अलग टीमें बनायीं गयी थी।