प्रतीकात्मक तस्वीर

देश में कोरोना के 6412 मामले, स्वास्थ्य मंत्रालय ने 49000 वेंटिलेटर का दिया आर्डर

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार ने स्वास्थ्य प्रणाली को और मजबूत करने के लिए 15000 करोड़ रुपये आवंटित किये है। मोदी सरकार द्वारा इस आवंटित फंड से राज्यों को कोरोना से लड़ने में आर्थिक मदद मिलेगी। इससे पहले मोदी सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर, कोरोना मरीजों के इलाज और अन्य खर्चों के लिए 4113 करोड़ रुपये आवंटित किये थे।

गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने मीडिया को प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी थी की अब तक कुल 5865 कोरोना मामलों की पुष्टि हुई है। जिसमे से 478 लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं। वही अभी तक कोरोना की वजह से 169 लोगो की जाने गयी है।

लव अग्रवाल ने यह भी बताया की रेलवे ने 3,250 बोगियों को क्वारंटाइन डिब्बों में तब्दील किया है। कुल 5,000 डिब्बों को क्वारंटाइन डिब्बों में बदलने का टारगेट है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी लव अग्रवाल ने यह भी जानकरी दी की 49,000 वेंटिलेटर की खरीद की जा रही जबकि भारत में 20 कंपनियां पीपीई बना रही है। पीपीई, मास्क और वेंटिलेटर की आपूर्ति अब शुरू हो गई है।

इसी बीच भारत में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलो के बाद ओडिशा ने देशभर में लगे लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। लॉकडाउन को बढ़ाने वाला ओडिशा पहला राज्य बन गया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने मोदी सरकार से अपील की है कि 30 अप्रैल तक ट्रेन और हवाई सेवा शुरू न की जाए।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …