बीफ बेचने के आरोप में असम में भीड़ ने मुस्लिम शख्‍स पर किया हमला, जबरदस्ती सुअर का मांस खिलाने की हुई कोशिश

0
305
Loading...

असम में रविवार को एक मुसलमान व्यक्ति को बीफ बेचने के आरोप में भीड़ ने कथित तौर पर पीटा और जबरन सूअर का मांस खिलाने की भी कोशिश की। स्क्रोल डॉट इन में छपी खबर के अनुसार, घटना असम के बिश्वनाथ जिले की बताई जा रही है। जहाँ शौकत अली नाम के मुस्लिम व्यक्ति को बीफ बेचने के शक में घेर कर भीड़ ने कथित तौर पर पिटाई करने के बाद सूअर का मांस खिलाने की भी कोशिश की।

वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है की लोगों की अक्रामक भीड़ शौकत अली को चारो तरफ से घेर कर पूछताछ कर रहे है की तुम्हारे पास बीफ बेचने का लाइसेंस है या नहीं। साथ ही यह भी जानने की कोशिश कर रहे है की वो भारतीय है या बांग्लादेशी, भीड़ यह भी सवाल कर रही है की तुम्हारा नाम नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स (एनआरसी) में है या नहीं।

बतादे की असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स रजिस्टर तैयार किया हुआ है। एनआरसी रजिस्टर में शामिल हुए लोगो को ही असम का नागरिक मानते है। अगर जिसका भी इस एनआरसी रजिस्टर में नाम नहीं है उसको असम का नागरिक नहीं माना जायेगा।

जिला पुलिस ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा की, पीड़ित शौकत अली को पीटने के बाद भीड़ ने मार्केट के महालदार (मैनेजर) कमल थापा से भी बदतमीजी की। पुलिस ने इस मामले में 2 एफआईआर दर्ज किये है एक पीड़ित शौकत अली के रिश्तेदार ने एफआईआर दर्ज करवाया है दूसरा मार्केट के महालदार (मैनेजर) कमल थापा ने दर्ज करवाया है।

हालाँकि पुलिस ने इसे सांप्रदायिक घटना मानने से इंकार कर दिया है उनका कहना है की दूसरे समुदाय के एक व्यक्ति के साथ भी ऐसे ही एक मामला सामने आया है। द इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार, पीड़ित शौकत अली के भाई अब्दुल रहमान ने बताया की पिछले 50 सालों से उनका परिवार चावल और मांस बेच रहा है इस तरह की घटना कभी नहीं हुई। फ़िलहाल शौकत अली अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती है। इससे पहले इस तरह की सांप्रदायिकता नहीं देखी है।

Loading...