18 दिन बाद आज चंडीगढ़ PGI से घर लौटेंगे SI हरजीत सिंह, लॉकडाउन में निहंगों ने कर्फ्यू पास मांगने पर तलवार से किया था हमला

12 अप्रैल को पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने पर भड़के निहंगों द्वारा तलवार से पंजाब पुलिस के एसआई हरजीत सिंह पर हमला किया गया था जिसमे उनका हाथ कट गया था। इसके बाद चंडीगढ़ पीजीआई में डॉक्टरों द्वारा अथक प्रयास के बाद 7 घंटे चले ऑपरेशन के बाद हाथ को जोड़ दिया गया था जो अब बिल्कुल ठीक हो गया है। उन्हें गुरुवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

हरजीत सिंह के कटे हाथ की अंगुलियों में मोमेंट आ गया है इसके अलावा उनके हाथ में ऑक्सीजन सेचुरेशन होने से ब्लड फ्लो भी हो पा रहा है वही प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के एचओडी प्रो. आरके शर्मा ने कहा कि अब एसआई हरजीत सिंह बिल्कुल ठीक हैं और उन्हें गुरुवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

बता दे कि कोरोनावायरस की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन किया गया है जिसको लेकर पंजाब में भी लॉकडाउन का पालन करा रहे एसआई हरजीत सिंह द्वारा 12 अप्रैल को निहंगों द्वारा कर्फ्यू पास मांगने पर तलवार से हमला कर दिया था।

जिसमें एसआई हरजीत सिंह की कलाई हाथ से अलग हो गई थी। उसके बाद हरजीत सिंह को चंडीगढ़ पीजीआई रेफर किया गया था। उनके हाथ को जोड़ने के लिए डॉक्टरों द्वारा करीब साढे 7 घंटे ऑपरेशन चलने के बाद 9 डॉक्टर्स की टीम ने इस जटिल ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देकर हाथ को जोड़ दिया था।

बाद में हरजीत सिंह के जज्बे को देखते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन हरमिंदर सिंह की सरकार ने हरजीत सिंह को एएसआई से एसआई प्रोमोट कर दिया गया। वही हरजीत सिंह के ठीक होने पर उन्हें सलाम करने के लिए डीजीपी पंजाब दिनकर गुप्ता से लेकर निचले स्तर तक 8 हजार पुलिस कर्मियों ने नेम प्लेट पर हरजीत सिंह के नाम का स्टीकर लगाया था। इसके अलावा थानों में एसएचओ ने हरजीत सिंह को सम्मान देने के लिए अपने हाथों में पोस्टर पकड़कर कहा था- मैं भी हरजीत सिंह।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …