प्रतीकात्मक तस्वीर

शादी के 9 साल बाद महिला की खुलकर सच्चाई आयी सामने, अस्पताल पहुंचने पर हुआ खुलासा

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है जहाँ एक 30 साल की विवाहिता महिला को पेट में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में जांच के बाद पता चला कि वह महिला नहीं बल्कि एक पुरुष है। अस्पताल में जांच के बाद पता चला कि उसके अंडकोष में कैंसर है और वह एक महिला नहीं बल्कि जो व्यक्ति पिछले 9 साल से अपनी विवाहिता पत्नी को महिला समझ रहा था वह एक पुरुष निकला।

डॉक्टर अनुपम दत्ता ने पीटीआई भाषा से बात करते हुए बताया कि आवाज और शरीर के हर अंग महिला के थे लेकिन उसके शरीर में पैदाइश गर्भाशय और अंडाशय नहीं है उसे कभी आज तक पीरियड भी नहीं आए। दत्ता ने बताया कि ऐसा 22 हजार लोगों में से किसी एक में पाया जाता है।

चौकाने वाले खुलासे तब हुए जब उसकी 28 साल की बहन की भी जांच हुई तो वह भी बल्कि एक पुरुष निकला। डॉक्टरों का कहना है कि ऐसे में व्यक्ति जेनेटिकली पुरुष होता है लेकिन उसके शरीर की बनावट, आवाज, स्तन सामान्य जननांग एक महिला की तरह होते हैं महिला की फिलहाल कीमोथेरेपी की जा रही है और उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

डॉक्टर दत्ता का कहना है कि वह मरीज और उसके पति की काउंसलिंग कर रहे हैं और समझाने की कोशिश में लगे हुए हैं कि वह उसी प्रकार आगे के जीवन को गुजारे। डॉक्टर ने कहा कि मरीज की दो अन्य रिश्तेदारों को भी अतीत में यही समस्या रही है यह जीन जनित समस्या जान पड़ती है।

Check Also

CM योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को दिए निर्देश

उत्तर प्रदेश: सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को स्वास्थ्य विभाग …