सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद, BCCI में अब आएंगे कुछ नए चेहरे

0
62

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित लोढ़ा समिति की सिफारिशों ने BCCI को उलझनों में डाल दिया है। कोर्ट ने पहले सदस्यों के तीन साल का टाइम ख़त्म होने के बाद की जगह पर ध्यान रखा था लेकिन सिफारिशों के अनुसार अब 6 साल की समय अवधि के बाद कोई अधिकारी चुनाव नहीं लड़ सकता, इसका मतलब यह है कि बोर्ड में नए चेहरे आने लाजमी है।

आदेश लागू होते ही BCCI के ट्रेजरार अनिरुद्ध चौधरी, कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी और कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना चुनाव लड़ने के काबिल हो जाएंगे। आदेश अगले चार हफ्ते में लागू होना है। कई लोगों ने इस पर चिंता ब्यक्त है लेकिन सीके खन्ना ने इसे सकारात्मक बताते हुए इसका स्वागत किया है। Times Of India से बातचीत में BCCI के एक अधिकारी ने कहा कि हमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ध्यान से देखना होगा। कुछ चीजें सही नहीं हैं जिनके लिए वापस कोर्ट का दरवाजा खटकटाया का सकता है।

नए संविधान लागु होते ही प्रबंधन के कुछ ही कैंडिडेट चुनाव लड़ने के काबिल रहेंगे और बोर्ड को कुछ नये चेहरे की जरुरत होगी। कूलिंग ऑफ़ की प्रोसेस में 9 साल अधिक होने के एक और क्लोज के कारण BCCI के अधिकारी उलझन में हैं। जो नियम बोर्ड में लागू होना है वही राज्य इकाइयों में भी लागू होगा। अगले कुछ समय में लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने की प्रक्रिया पूरी होगी जाएगी इसलिए बोर्ड के अधिकारी सभी डाउट पर काम कर रहे है। अब देखना ये है कि BCCI कोर्ट से क्या कहती है और कोर्ट का क्या फैसला आता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here