all non-COVID services are suspended in Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital amid surge Covid-19 cases in Delhi

0


दिल्ली में कोरोना संक्रमण (COVID-19) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में चल रही सभी गैर-कोविड-19 सेवाओं को अगले आदेश तक तत्काल प्रभाव से रोक कर दिया गया है। इससे पहले एम्स और लेडी हार्डिंग जैसे अस्पतालों में भी सर्जरी और ओपीडी व अन्य सेवाओं को सीमित कर दिया गया था।

दिल्ली में कोविड-19 के 7,437 नए मामले सामने आए थे, जो इस साल का एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है, जबकि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई, जिससे राजधानी में मृतकों की संख्या बढ़कर 11,157 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, संक्रमण दर भी पिछले दिन की 6.1 प्रतिशत से बढ़कर 8.1 प्रतिशत हो गई, क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों में मामलों में काफी वृद्धि हुई है। इस वर्ष पहली बार एक दिन में 7,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। पिछले दो दिन 5,000 से अधिक नए मामले आए थे।

दिल्ली में अब तक के सबसे अधिक दैनिक मामले 11 नवंबर को आए थे, जब 8,593 मामले आए थे, जबकि शहर में कोविड-19 से सबसे अधिक मौतें 19 नवंबर को हुई थीं, जिस दिन 131 मरीजों की मौत हो गई थी। बुलेटिन में कहा गया कि एक दिन पहले 52,696 आरटी-पीसीआर जांच और 39,074 रैपिड एंटीजन जांच सहित कुल 91,770 जांच की गई थी। गुरुवार को संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 6,98,005 हो गए। अब तक 6.63 लाख से अधिक मरीज वायरस से उबर चुके हैं।

हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, बीमारी के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई, जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 11,157 हो गई। दिल्ली में एक्टिव मरीजों की संख्या एक दिन पहले के 19,455 से बढ़कर 23,181 हो गई। बुलेटिन में कहा गया है कि होम आइलोसेशन में रखे गए लोगों की संख्या बुधवार के 10,048 से बढ़कर 11,367 हो गई, जबकि कंटेनमेंट जोन की संख्या एक दिन पहले के 3,708 से बढ़कर 4,226 हो गई।

सर गंगाराम अस्पताल के 37 डॉक्टर हुए कोरोना पॉजिटिव 

कोविड-19 की मौजूदा लहर के बीच गुरुवार को दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में 37 डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए और उनमें से पांच को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। राजधानी में पिछले कुछ हफ्ते में कोरोना वायरस के मामलों में तेज बढ़ोतरी हुई है और पहली बार 7,000 से ज्यादा मामले आए हैं। अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि कोविड-19 महामारी की हालिया लहर में 37 डॉक्टरों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। सर गंगा राम अस्पताल के एक सूत्र ने बताया कि अस्पताल में कोविड-19 के मरीजों का इलाज करते हुए 37 डॉक्टर संक्रमित हुए हैं। इन डॉक्टरों में से अधिकतर में कोरोना के हल्के लक्षण मिले हैं। कुल 32 डॉक्टर क्वारंटाइन में हैं और पांच डॉक्टरों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिछले एक साल से महामारी के दौरान सर गंगाराम अस्पताल ने कोविड-19 के इलाज में अग्रणी भूमिका निभाई है। 

(न्यूज एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।