निर्भया के सभी दोषियों को तिहाड़ जेल में दी गयी फांसी

नई दिल्ली: निर्भया के सभी दोषियों को 20 मार्च को 5 बजकर 30 मिनट पर फांसी दे दी गयी। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, तिहाड़ जेल में सभी 4 मृत्युदंड के दोषियों को फांसी दे दी गई है।”

इससे पहले निर्भया गैंगरेप के दोषी अक्षय की पत्नी ने अदालत में तलाक के लिए याचिका दायर कर थी। पत्नी द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि वह पति के फांसी के बाद विधवा का जीवन नहीं जीना चाहती।

दोषी अक्षय की पत्नी ने औरंगाबाद परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश रामलाल शर्मा के न्यायालय में तलाक की अर्जी दाखिल की थी। उसका दावा है कि वह अपने पति के बिना नहीं जीना चाहती है।

स्थानीय मीडिया के अनुसार, अक्षय की पत्नी पुनीता ने अदालत में दायर की अपनी अर्जी में कहा था कि उसके पति को निर्भया गैंगरेप मामले में दोषी ठहराया गया है और उसे कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। उसका कहना है कि उसके पति निर्दोष है वही फांसी के बाद वह विधवा की जिंदगी नहीं जीना चाहती इसलिए उसे अपने पति से फांसी से पहले तलाक चाहिए।

भारतीय दंड संहिता कानून के अनुसार अगर किसी महिला का पति दुष्कर्म या गैंगरेप मामले में कोर्ट द्वारा गुनाहगार साबित किया जाता है। तो वह पति से तलाक के लिए अर्जी दाखिल कर सकती है। इसी कानून के तहत दोषी अक्षय की पत्नी ने भी तलाक की याचिका दायर की है।

निर्भया के दोषी अक्षय की पत्नी के वकील मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि पीड़ित महिला को विधिक अधिकार है कि वह हिंदू विवाह अधिनियम 13(2)(II) के तहत कुछ मामलों में वह तलाक का अधिकार ले सकती है इसमें दुष्कर्म का मामला भी शामिल है।

वही निर्भया की मां आशा देवी ने कहा था कि कोर्ट को पता है कि यह दोषी फांसी की सजा को कैसे बार-बार रोक रहे हैं यह उनके लिए चौथा डेथ वारंट जारी हुआ है। अब उनके पास कोई कानूनी विकल्प नहीं बचा है मुझे पूरा विश्वास है कि उनको 20 मार्च को फांसी होगी तभी निर्भय को इंसाफ मिलेगा।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …