लॉकडाउन में एंबुलेंस ने आने से कर दिया मना, पति इलाज के लिए पत्नी को गोद में उठाकर ले गया अस्पताल

0

यूपी में एक बार फिर एंबुलेंस ना मिलने की वजह से एक महिला को परेशानी उठानी पड़ी। कानपुर के गहिलू गांव में छत पर से गिरी एक महिला को अस्पताल ले जाने के लिए घंटों एंबुलेंस का इंतजार करना पड़ा। मगर आखिर में एंबुलेंस ना आने पर पत्नी को ले जाने के लिए पति को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

इलाज के लिए मजबूर पति अपनी पत्नी को गोद में उठाकर पैदल ही चल दिया। रास्ते में बाइक सवारों से मदद लेकर किसी तरह सीएससी पहुंचा। जहां से डॉक्टरों ने देखकर महिला को कानपुर रेफर कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार, गहिलू गांव के रहने वाले अनुज कुमार की पत्नी रंगोली मंगलवार शाम को छत पर चक्कर आने की वजह से नीचे गिर गयी।

इसके बाद पति ने एंबुलेंस 108 नंबर डायल कर बुलाना चाहा। सभी एंबुलेंस व्यस्त होने की बात कह आने से इनकार कर दिया। मजबूर पति ने पत्नी को गोद में उठाकर ही इलाज के लिए चल पड़ा।

कुछ दूर चलने के बाद बाइक सवारों से मदद मांग कर वह आरपीएस इंटर कालेज पहुंचा। जहां से करीब 1 किलोमीटर की दूरी अपनी पत्नी को गोद में लेकर सीएससी अस्पताल पहुंच सका। डॉ आशीष मिश्रा ने बताया कि दोनों पैर टूट चुके हैं उसके कमर में भी चोट आई है बात कह कानपूर रेफर कर दिया। वह इस मामले पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ लोकेश शर्मा ने बताया कि एंबुलेंस की देखरेख लखनऊ कंट्रोल रूम से होती है एंबुलेंस किस वजह से नहीं मिली इसकी जांच कराई जाएगी।