दलित से शादी कर अमृता ने दिया बच्चे को जन्म, उससे पहले घरवालो ने कर दी पति की हत्या

0
2690

तेलंगाना: तेलंगाना के नालगोंडा में पांच महीने पहले 23 वर्षीय युवक प्रणय की हत्या कर दी गई क्यूंकि उसने एक उच्च जाति की लड़की से दो साल पहले शादी किया था। अमृता के पिता नहीं चाहते थे की अमृता उस दलित के बच्चे की माँ बने।

अमृता को उसके मायके वालो ने गर्भपात कराने की धमकी दी थी लेकिन अमृता द्वारा ऐसा नहीं किये जाने पर प्रणय की हत्या कर दी गई। जिसके बाद भी अमृता ने हिम्मत से काम लिया और बच्चे को चार दिन पहले 30 जनवरी जन्म दिया।

वही सोशल मीडिया पर हैशटैग #इस तस्वीर को देखकर मुस्कराइए.. के साथ लोग इसे जातिवाद पर जीत की मिसाल बता रहे है। दैनिक भास्कर में छपी खबर के अनुसार अमृता ने बताया, “मेरे अब दो ही मकसद हैं। बेटे की अच्छी परवरिश और प्रणय को न्याय दिलवाना।” अमृता ने आगे कहा, मैं अपने बेटे को केवल भारतीय बनने के लिए कहूंगी, जो जाति, धर्म की बात बिल्कुल भी ना करे।

वही अमृता से जब यह सवाल किया गया की बेटे को कैसे बताएंगी कि पिता की हत्या किसने की, जिस पर जवाब देते हुए अमृता ने कहा, समाज में जाति और धर्म के आधार लड़वाने वाले ही ऐसा काम करते है। “अभी भी मुझे और मेरे बच्चे को मायके वालों से खतरा है।” वही प्रणय के पिता बालस्वामी का कहना है की, “मेरे या परिवार के साथ कुछ भी हो जाए। आरोपियों को सजा होने तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा।”

अमृता की दो साल पहले शादी प्रणय से हुई तब परिवार वाले बहुत खफा थे। लेकिन कुछ समय बाद सब सामान्य हो गया। लेकिन अमृता के घर वालो ने शर्त रखी थी की अमृता कोई भी बच्चे को जन्म नहीं देगी। लेकिन अमृता के प्रेगनेंट होते ही प्रणय की हत्या कर दी गई।

Loading...