अमृतसर ट्रेन हादसा: ड्राइवर ने लगाया था इमरजेंसी ब्रेक, मगर इस वजह से बढ़ाई स्पीड

अमृतसर ट्रेन हादसा: रावण दहन के मौके पर हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे में 61 लोगों की मौत हो गई। इस मामले में DMU ट्रेन के ड्राइवर अरविंद कुमार ने लिखे अपने पत्र में बड़ा खुलासा किया है। उन्होने लिखा है कि हादसे के समय इमरजेंसी ब्रेक लगाया था लेकिन ट्रेन न रुकने की वजह से गुस्साए लोग ट्रेन पर पत्थर फेंकने लगे थे।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, उसने अपने पत्र में लिखा है की मैंने इमरजेंसी ब्रेक लगाए थे और रेलवे ट्रैक पर जमा भीड़ को हटाने के लिए हॉर्न भी बजाया था। अफ़सोस वह हादसा रोकने में नाकाम रहा। ट्रेन के चालक अरविंद कुमार ने अपने पत्र में लिखा है की ट्रेन रुकने ही वाली थी की भीड़ ने ट्रेन पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए।

पत्र में अरविंद ने आगे लिखा है की ट्रेन में सवार यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मैंने ट्रेन को न रोकने का फैसला लिया और ट्रेन को अमृतसर स्टेशन पर पहुंचने के बाद ही रोका। उन्होंने बताया की, मैंने तुरंत इसकी जानकारी अपने संबंधित अधिकारियों को दे दी थी।

हादसे का खुलासा करते हुये अरविंद ने अपने पत्र में लिखा है की जब ट्रेन किमी संख्या 503/11 पर पहुंची तो उसी समय सामने से आ रही 13006 डाउन ट्रेन ने क्रॉस किया। अचानक मैंने रेलवे ट्रैक पर लोगो की भारी भीड़ देखी मैंने हॉर्न बजाकर तुरंत ही इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए। इमरजेंसी ब्रेक लगाने के बाद भी कई लोग ट्रेन के नीचे आकर कुचल गए।

इस मामले में GRP ने भारतीय दंड संहिता की धारा 304, 304 ए और 338 के तहत मामला दर्ज किया है। वही वार्ड नंबर 29 से मौजूदा पार्षद विजय मदान के घर पर हमले के बाद पुलिसकर्मियों को लगा दिया गया है।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Check Also

जदयू नेता की हत्या मामले में आरजेडी की पूर्व विधायक की सजा पर सुनवाई अब 25 को

गया जिले के अतरी की पूर्व राजद विधायक कुंती देवी की सजा पर शनिवार को …