Amritsar Train Hadse में 50-60 लोगो की मौत, मार्च्‍युरी में लगा लाशों का ढेर

0
359

Amritsar train accident: पंजाब के अमृतसर में रावण दहन का कार्यक्रम देखने के दौरान भीषण रेल हादसे में 60 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है। वही इस हादसे पर रेलवे के अधिकारियो का कहना है की इस समारोह की जानकारी नहीं दी गई थी नहीं तो हादसा टाला जा सकता था। दशहरा के अवसर पर रेल की पटरी के पास रावण दहन का कार्यक्रम देखते सैकड़ों लोगो पर ट्रैन चढ़ते हुये निकल गयी।

जालंधर से अमृतसर की ओर आ रही डीएमयू लोकल ट्रेन संख्या 74943 से हादसा एक इंटरलॉक्‍ड लेवल क्रॉसिंग से लगभग 200 मीटर की दूरी पर हुआ। वही इस हादसे पर अमृतसर के स्‍टेशन सुप्रिटेडेंट आलोक मेहरोत्रा ने द इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया की, हमें रेलवे क्रॉसिंग के नजदीक अगर दशहरे कार्यक्रम की सुचना दी गयी होती तो हम ट्रेन के ड्राइवर और गार्ड को पहले से ही इस कार्यक्रम के बारे में सूचित कर देते। उन्होंने आगे साफ़ कहा की ट्रेन अधिकारियों की गलती नहीं है क्रॉसिंग के लिए डाउन सिग्‍नल दिए जा चुके थे और जोड़ा क्रॉसिंग के गेट बंद थे।

इस रेल हादसे पर पंजाब के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ब्रह्म महिंद्रा ने बताया की घटनास्‍थल से करीब एक किलोमीटर दूर स्थित अमृतसर सिविल हॉस्पिटल की शवगृह में लाशों का ढेर लगा हुआ है और हादसा इतना बड़ा है की हो सकता है शवगृह में लाशों को रखने के लिए जगह कम पड़ सकती है। उन्होंने आगे बताया की सिविल हॉस्पिटल और गुरु नानक हॉस्पिटल के शवगृह के बाहर लाशें फर्श पर पड़ी हुई थीं। बाहर परिजन शवों के साथ ठीक बर्ताव न होने पर गुस्से में थे।

गौरतलब है की रावण के जलने के बाद आग की लपटें तेज होने से काफी लोग रेल पटरी पर आकर देखने लगे। पटाखे की आवाज में ट्रेन के आने की आवाज नहीं सुन सके और ट्रेन बुरी तरह लोगों को कुचलते हुए निकल गई।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here