‘हंगामा होना तय: NPR पर अरुंधति ने दिया विवादित बयान, नाम रंगा-बिल्ला और पता प्रधानमंत्री के घर का बताएं’

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में दिल्ली विश्वविद्यालय में इकट्ठा हुए कई विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ एकजुटता दिखाने पहुंची लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता अरुंधती राय ने केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला। अरुंधति राय ने कहा कि मोदी सरकार देश में डिटेंशन सेंटर के मुद्दे पर झूठ बोल रही है।

उस समय अरुंधति राय के साथ फिल्म अभिनेता जीशान अय्यूब और अर्थशास्त्री अरुण कुमार भी मौजूद थे। अरुंधति राय ने कहा कि आप मोदी सरकार के बहकावे में बिल्कुल ना आये। आपसे एनआरसी और डिटेंशन कैंप के मुद्दे पर झूठ बोला जा रहा है। कड़े शब्दों का प्रयोग करते हुए कहा कि एनपीआर-एनआरसी का ही एक हिस्सा है जब सरकारी कर्मचारी आपके घर जानकारी मांगने आए तो उन्हें अपना नाम रंगा बिल्ला और घर का पता बताने के बदले प्रधानमंत्री के घर का पता लिखवा दें।

इसके अलावा अरुंधति राय ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि जब नॉर्थ ईस्ट में बाढ़ आती है तो मां अपने बच्चे को बचाने से पहले अपने नागरिकता के दस्तावेज को बचाती है क्योंकि उसे पता है कि अगर बाढ़ में कागज हाथ से बह गए तो फिर उनका भी यहां रहना दुबर हो जाएगा।

साथ ही यह भी कहा कि जब पढ़ने वाले छात्र सरकार के खिलाफ अपनी आवाज उठाते हैं तो इन छात्रों को अर्बन नक्सल का नाम दिया जाता है। अर्थशास्त्री अरुण कुमार ने भी छात्रों से कहा कि वे सरकार से शिक्षा और रोजगार को लेकर सवाल पूछे। सरकार अर्थव्यवस्था से लेकर कई मुद्दे को छुपाने के लिए ऐसे कानून सामने लेकर आई है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …