आज भारत के सामने एक और बड़ी चुनौती, 16 मई को ‘चक्रवाती तूफान’ की चेतावनी हो चुकी है पहले ही जारी

नई दिल्ली: कोरोना से मुसीबत में घिरा भारत के सामने एक और चुनौती आ खाड़ी हुई। बुधवार को भारतीय मौसम विभाग ने जानकारी दी की बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व इलाके में निम्न दबाव का क्षेत्र बन रहा। जिसकी वजह से 16 मई को ‘चक्रवाती तूफान’ आ सकता है। जो 15 मई को ‘चक्रवाती तूफान’ का रूप ले सकता है।

भारतीय मौसम विभाग ने बताया की, दक्षिण अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व इलाके में निम्न दबाव बनने की वजह से ‘चक्रवाती तूफान’ आ सकता है। इस कम दबाव के क्षेत्र का नामकरण अम्फान रखा गया है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, भारत मौसम विज्ञान विभाग ने जानकारी दी की, “बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी और उससे सटे दक्षिण अंडमान सागर पर आज सुबह एक निम्न दबाव का क्षेत्र बना। 16 मई की शाम तक एक चक्रवाती तूफान में तेजी ला सकता है।”

इससे पहले स्काईमेट ने भी जानकारी देते हुए बताया था की 1 मई से 3 मई के बीच ‘चक्रवाती तूफान’ आ सकता है। लेकिन बाद में ये धीमा पड़ गया। लेकिन एक बार फिर से बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिसकी वजह से 16 मई को ‘चक्रवाती तूफान’ के आने की संभावना है।

Check Also

Cyclone Nisarga: मुंबई से 150 किलोमीटर दूर है ‘निसर्ग’ चक्रवाती तूफान, 120 KM घण्टे की रफ्तार पकड़ मचा सकता है तबाही

मुंबई: बुधवार 3 जून 2020 को महाराष्ट्र और गुजरात के समुद्री तट से टकराने वाले …