जन्म लेते ही निर्दयी माँ ने नवजात को सड़क पर फेंका, जिला अस्पताल 100 लोग पहुंचे अपनाने

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रविवार की सुबह भिंड के डूडा गांव के पास सड़क किनारे एक नवजात बच्चे के मिलने की खबर है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस उसे लहार अस्पताल लेकर पहुंची। जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में उसे एसएनसीयू वार्ड में भर्ती किया गया है।

जब लोगों को पता चला कि जिला अस्पताल में एक बिना मां का बच्चा एसएनसीयू वार्ड में भर्ती है तो 100 से अधिक लोग उसे अपनाने के लिए जिला अस्पताल पहुंच गए।

शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. केके गुप्ता ने बताया कि इस बच्चे का जन्म 9 महीने से पहले हुआ है क्योंकि इसका वजन 1 किलो 9 सौ ग्राम है सामान्य तौर पर जन्मे बच्चो का वजन 2 किलो 50 ग्राम रहता है।

डॉक्टर ने बताया कि इस बच्चे का जन्म किसी दाई ने कराया है क्योंकि ज्यादातर देखने को मिला है कि दाई बच्चे की नाल नहीं काटती। इस बच्चे की भी नाल नहीं कटी गयी थी। वही आशंका जताई जा रही है कि इसे किसी अविवाहित लड़की ने जन्म दिया है जो समाज में इज्जत के डर से उसे सड़क पर फेंक दिया है।

Check Also

केरल: गर्भवती हथिनी को खिलाया पटाखों से भरा अनानास, जबड़ा फटा, हो गयी गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत

केरल में कुछ शरारती लोगो ने एक गर्भवती हथिनी के मुँह में पटाखों से भरा …