एशियाई ‘ब्रैडमैन’ ने बताया, किस वजह से भारत जीत पाया बॉर्डर-गावस्कर सीरीज

0


पाकिस्तान के महान बल्लेबाज जहीर अब्बास का मानना है कि पिछले एक दशक में क्रिकेट के ढांचे में निवेश का फल भारत को मिल रहा है और इसकी बानगी ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक जीत से मिली। अब्बास ने कहा कि देखो भारतीय टीम कहां तक आ गई। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में तीन साल में दूसरी बार सीरीज जीती। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि भारत ने अपने क्रिकेट के ढांचे में पिछले एक दशक में काफी निवेश किया है। उस कड़ी मेहनत का फल अब मिल रहा है।

अब्बास ने पाकिस्तान क्रिकेट के पतन की आलोचना करते हुए कहा कि सफलता की कुंजी सिर्फ कड़ी मेहनत है। उन्होंने कहा कि क्रिकेट में मेरा हमेशा मानना रहा है कि सबसे अहम बात यह है कि कोई खिलाड़ी कितनी मेहनत कर रहा है और कितना समय खेल को दे रहा है। किसी भी कोचिंग या सलाह से आप आला दर्जे के खिलाड़ी नहीं बन सकते जब तक कि खुद मेहनत ना करें।

भारत-इंग्लैंड के बीच दर्शकों के बिना खेले जाएंगे शुरुआती दो टेस्ट मैच

एशिया के ब्रैडमैन कहे जाने वाले अब्बास ने कहा कि भारत की ऑस्ट्रेलिया में जीत इसलिए भी अहम है क्योंकि वह विराट कोहली और कई सीनियर खिलाड़ियों के बिना मिली। उन्होंने पाकिस्तानी क्रिकेटरों से भी अपने खेल पर और मेहनत करने को कहा।

इस सीरीज में जीत हासिल करते ही भारत ऐसी पहली एशियाई टीम बन गई है, जिन्होंने कंगारू टीम को गाबा में शिकस्त दी है। साथ ही टीम इंडिया लगातार दूसरी बार बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी को अपने नाम करने में सफल रही। यही नहीं इस शानदार जीत के बाद भारत की वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने की उम्मीदें काफी बढ़ गई हैं, क्योंकि वो प्वॉइंट टेबल में सबसे ऊपर आ गई है।

‘8 साल से नहीं जिता पाए एक भी ट्रॉफी’, गंभीर ने कोहली पर साधा निशाना



Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।