जेएनयू में हमला, JNU छात्रसंघ अध्यक्ष की हालत गंभीर, कैंपस छावनी में तब्दील

रविवार शाम को जेन्यू कैंपस में कुछ नकाबपोश लोग घुसकर छात्रों और फैकल्टी मेंबर से मारपीट की थी। जिसमें जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आईसी घोष बुरी तरह जख्मी हो गयी थी। मिली जानकारी के अनुसार देर रात घायलों को इलाज के लिए एम्स अस्पताल और सफदरजंग में भर्ती कराया गया। एम्स के ट्रामा सेंटर में 23 और सफदरजंग अस्पताल में 3 घायलों को भर्ती कराया है।

वही अमर उजाला के अनुसार जेएनयू छात्र संघ आइशी घोष की हालत गंभीर बताई जा रही है। एम्स के ट्रामा सेंटर के सीनियर डॉक्टर ने जानकारी देते हुए कहा कि 10:30 बजे तक यहां 23 छात्रों को गंभीर हालत में इलाज के लिए भर्ती कराया गया जिसमें से 12 छात्रों के सिर पर गहरी चोट लगी है। जिसमे जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आईसी घोष की हालत गंभीर है।

इन सबके अलावा जेएनयू प्रोफेसर सुचित्रा के सिर में भी कई जगह चोटें लगी है 4 छात्रों के हाथ में फैक्चर है अभी सभी घायलों का इलाज चल रहा है। इसके अलावा सफदरजंग अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में तीन घायलों को भर्ती कराया गया है जहां डॉक्टरों का कहना है कि 2 घायलों के सिर पर धारदार हथियार से हमला किया गया है अस्पताल प्रशासन ने घायलों की पहचान बताने से इनकार कर दिया।

हमले के बाद घायलों को इलाज के लिए पहुंची डॉक्टरों की टीम पर भी हमला होने की खबर है। यूनिवर्सिटी के बाहर एंबुलेंस पर पथराव किया गया इसके बाद एंबुलेंस को छोड़कर डॉक्टरों को वहां से भागना पड़ गया। इस पर एम्स आरडीए के पूर्व अध्यक्ष डॉ हरजीत सिंह भट्टी ने कहां कि वे खुद दलों की टीम में शामिल थे। जब उन पर पथराव हुआ है। घायलों के सहायता के लिए विश्वविद्यालय के गेट पास पहुंचे ही थे कि कुछ नकाबपोशों ने एंबुलेंस पर धावा बोल दिया था।

कैंपस में हमले के बाद तुरंत दिल्ली स्वास्थ विभाग ने 7 कैट्स एंबुलेंस को तत्काल यूनिवर्सिटी भेजा था। एंबुलेंस की मदद से ही हमले में घायल हुए छात्रों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। विश्वविद्यालय में 10 और कैट्स एंबुलेंस सहायता के लिए भेजी गई है।

Check Also

CM योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को दिए निर्देश

उत्तर प्रदेश: सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को स्वास्थ्य विभाग …