गौमूत्र की मुसलमानों को सलाह पर बाबा रामदेव को कोर्ट का नोटिस, एक हफ्ते की मोहलत

0
58

उत्तर प्रदेश: पतंजलि के मालिक योगगुरु बाबा रामदेव द्वारा मुसलमानों को गौमूत्र के इस्तेमाल की सलाह पर प्रयागराज कोर्ट ने नोटिस जारी कर बाबा से एक हफ्ते में जवाब माँगा है। अदालत ने बाबा रामदेव से नोटिस में पूछा है की मुसलमानों को गौमूत्र के इस्तेमाल करने के लिए किन ग्रंथों में इजाजत दी गयी है।

प्रयागराज की एडीजे-8 अदालत की तरफ से यह नोटिस जारी हुआ है जिसमे कोर्ट ने बाबा रामदेव से पूछा है कि उन्होंने मुसलमानों को गौमूत्र का इस्तेमाल करने की सलाह किस आधार पर दी थी। और किन धार्मिक ग्रंथों में मुसलमानों को गौमूत्र के इस्तेमाल करने की इजाजत दी गई है।

गौरतलब है की कुछ दिनों पहले एक इंटरव्यू में बाबा रामदेव ने मुसलमानों को अपने उत्पाद इस्तेमाल करने की सलाह दी थी। लेकिन जब उनसे सवाल किया गया की आपके कुछ प्रोडक्ट में गौमूत्र मिला होता है। इसी वजह से मुसलमान उनका उपयोग नहीं करते है जिस पर बाबा रामदेव ने कहा की इस्लामिक धार्मिक ग्रंथों में भी मुसलमानों के गौमूत्र का इस्तेमाल करने पर कोई रोक नहीं है।

इस बयान के बाद प्रयागराज की जैक सेवा ट्रस्ट के चेयरमैन सिराज खान ने बाबा रामदेव के खिलाफ कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। उन्होंने अदालत में कहा की बाबा रामदेव के इस बयान से उनकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं और बाबा को माफी मांगनी चाहिए। याचिकाकर्ता का कहना है की पहले बाबा रामदेव को अपने वकील के जरिये तीन नोटिसें भी भेजवाई लेकिन कोई जवाब नहीं आया उसके बाद वह अदालत में अर्जी दाखिल किये।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...