गिरफ्तार हुए कोरोना वाले बाबा, 11 रुपये के ताबीज से रोक रहा था कोरोना वायरस

जहाँ पूरी दुनिया इस खतरनाक कोरोना वायरस का तोड़ खोजने में लगी है वही 11 रुपये के ताबीज से कोरोना को दूर करने वाले मौलाना को रात में पुलिस ने जेल में बंद कर दिया था। यह मौलाना मास्क नहीं मिलने पर ताबीज से कोरोना रोकने का दावा करता था।

जेल से छूटने के बाद जब मौलाना अपने आवास पर पहुंचे तो मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं इससे पहले भी ताबीज बना चुका हूं। और कोरोना का कोई अभी इलाज नही आया है…जिस पर मैंने अल्ल्लाह का नाम जाफरान से लिखा है।

सोशल मीडिया पर पोस्टर वायरल होने के बाद मुझे धमकी मिल रही थी।पुलिस ने मुझसे रात में पूछताछ की। बतादे की मौलाना अहमद सिद्दीकी को रात में वजीरगंज इलाके से पुलिस उपायुक्त पश्चिम के निर्देशन में लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

यह मौलाना अहमद सिद्दीकी दुनिया भर में हाहाकार मचाने वाले कोरोना को 11 रुपये के ताबीज से रोक रहा था। अभी तक भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित 107 मामले सामने आ चुके है। (रवि शंकर शर्मा की रिपोर्ट)

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …