Balakot Air Strike: बालाकोट एयर स्ट्राइक के 2 साल, जानें कैसे भारत ने पाकिस्तान में घुसकर लिया था पुलवामा का बदला

0


Balakot Air Strike: बालाकोट एयर स्ट्राइक के 2 साल, जानें कैसे भारत ने पाकिस्तान में घुसकर लिया था पुलवामा का बदला

बालाकोट एयर स्ट्राइक (Photo Credits: File Image)

Balakot Air Strike: आज (26 फरवरी 2021) बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) के दो साल पूरे हो गए हैं. आज से ठीक दो साल पहले यानी 26 फरवरी 2019 को भारत (India) ने पाकिस्तान (Pakistan) में घुसकर पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Attack) का बदला लिया था. दरअसल, 14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) जवानों के काफिले पर हुए आतंकी हमले के जवाब में भारत ने बालाकोट (Balakot) एयर स्ट्राइक (Air Strike) किया था. पुलवामा हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) ने ली थी, जिसमें सीआरपीएफ को 40 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद पाकिस्तान को उसकी इस घिनौनी हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया और जैश-ए-मोहम्मद के आंतकी कैंप को तबाह कर दिया. चलिए जानते हैं कैसे दो साल पहले भारत ने पाकिस्तान में घुसकर पुलवामा का बदला लिया था.

पुलवामा के बदले के लिए एयर स्ट्राइक

पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद द्वारा लिए जाने के बाद भारत ने सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत का बदला लेने की तैयारी शुरू कर दी. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की अगुवाई में तीनों सेनाओं ने रणनीति पर काम करना शुरू किया. पाकिस्तान के घर में घुसकर उसे सबक सिखाने के लिए वायु सेना के तत्कालीन प्रमुख बी एस धनोआ ने सरकार के सामने एयर स्ट्राइक करने का विकल्प रखा, जिसे मंजूर करते हुए पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक करने की तैयारी शुरु की गई. यह भी पढ़ें: Pulwama Attack: पुलवामा हमले की दूसरी बरसी आज, ऐसे 20 साल के आतंकी ने खुद को विस्फोट कर ले ली थी 40 वीर सपूतों की जान

वायुसेना का बालाकोट पर हवाई हमला

आज से ठीक दो साल पहले 26 फरवरी 2019 को तड़के करीब साढ़े तीन बजे भारत की ओर से मिराज 2000 लड़ाकू विमान एलओसी पार करते हुए पाकिस्तान के बालाकोट में दाखिल हुए और वहां स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों को तबाह कर दिया. भारतीय वायुसेना के इस हवाई हमले में करीब 300 आतंकी मारे गए थे. बालाकोट एयर स्ट्राइक के लिए भारतीय वायुसेना ने मिराज-2000 और सुखोई एसयू-30 का इस्तेमाल किया था. हालांकि बालाकोट में वायुसेना के ऑपरेशन की गोपनीयता बरकरार रहे, इसलिए इसे ‘ऑपरेशन बंदर’ नाम दिया गया था.

भारत ने लिया था पुलवामा हमले का बदला

दरअसल, 14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए कायराना आतंकी हमले के जवाब में भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था. आंतकियों ने इस हमले को उस वक्त अंजाम दिया था, जब शाम को जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था, तभी अचानक एक कार ने सड़क के दूसरी तरफ से आकर टक्कर मार दी और जबरदस्त विस्फोट हुआ. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे, जिससे पूरा देश सन्न रह गया. आखिरकार पाकिस्तान में घुसकर भारत ने इस हमले का मुंहतोड़ जवाब देते हुए पुलवामा हमले का बदला पूरा किया.





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।