‘बड़ी खबर- निर्भया रेप कांड के दोषियों की फांसी टली, अब चाह कर भी 22 जनवरी को नहीं दे पाएंगे फांसी’

नई दिल्ली: पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को निर्भया रेप कांड में निर्भया के चारों दोषियों को सुनवाई के दौरान फांसी की सजा सुनाई थी। जिसके लिए 22 जनवरी सुबह 7 बजे का दिन चुना गया था। लेकिन अब निर्भया रेप कांड के चारों दोषियों की 22 जनवरी को फांसी नहीं हो पायेगी। क्यूंकि निर्भया केस के दोषी मुकेश और विनय ने फांसी रोकने के लिए क्वूरेटिव पिटीशन दायर की थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया था।

उसके बाद शाम 5 बजे मुकेश ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाई थी। वही आज दिल्ली के हाई कोर्ट में फांसी की सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कहा कि अब चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी नहीं हो सकती। वकील ने दलील देते हुए कहा की राष्ट्रपति के पास दया याचिका खारिज होने के बाद भी 14 दिन का समय दिया जाना जरुरी है।

बतादे की पटियाला हाउस कोर्ट के जज ने वीडियो कांफ्रेंसिंग जरिए चारों दोषियों से बात करने के बाद फांसी की सजा सुनाई थी। उस समय निर्भया की मां ने न्यूज़ एजेंसी ANI के अनुसार कहा की, “मेरी बेटी को न्याय मिला है। 4 दोषियों की सजा देश की महिलाओं को सशक्त बनाएगी। इस फैसले से न्यायिक प्रणाली में लोगों का विश्वास मजबूत होगा।”

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …