Bihar Budget 2021: बिहार विधानसभा में वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने पेश किया बजट – कृषि, रोजगार और महिलाओं के कल्याण पर विशेष जोर

Bihar Budget 2021: बिहार विधानसभा में वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने पेश किया बजट - कृषि, रोजगार और महिलाओं के कल्याण पर विशेष जोर

तारकिशोर प्रसाद (Photo Credits Facebook)

Bihar Budget 2021: बिहार के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद  (Tarkishore Prasad) ने सोमवार को बिहार विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश किया. पेश बजट में बजट अनुमान 2 लाख 18 हजार 303 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि रखी गई है, जिसमें कृषि, रोजगार और महिलाओं के कल्याण पर विशेष जोर दिया गया है. वित्तमंत्री ने बजट भाषण की शुरुआत में एक शेर पढ़ते हुए कहा, “नजर को बदलो नजारे बदल जाएंगे, सोच को बदलो सितारे बदल जाएंगे.

उन्होंने इस बजट को बिहार के सर्वागीण विकस का बजट बताते हुए कहा कि कोरोना काल में आर्थिक, सामाजिक और व्यपारिक गतिविधियां रूक गई थीं, फिर भी हमलोग घबराने वाले नहीं हैं. उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की एक कविता का जिक्र करते हुए कहा, “बाधाएं आती हैं, आईं घिरे प्रलय की घोर घटाएं, पांवों के नीचे अंगारे, सिर पर बरसें यदि ज्वालाएं, निज हाथों से हंसते-हंसते, आग लगाकर जलना होगा. कदम मिलाकर चलना होगा. यह भी पढ़े: UP Budget 2021: योगी सरकार ने पेश किया यूपी के इतिहास का सबसे बड़ा बजट, किसानों-महिलाओं और युवाओं के सुनहरे भविष्य के लिए खोला पिटारा

उन्होंने बजट भाषण में सात निश्चय पार्ट दो का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य के किसानों के खेतों में पानी पहुंचाने के लिए कार्य किए जाएंगे.  उन्होंने कहा कि हर खेत में पानी पहुंचाने की योजना के लिए 550 करोड़ रुपये का बजट में प्रावधान किया गया है.  उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सिंचाई की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी तथा हर खेत में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी.

उन्होंने कहा कि उच्चतर शिक्षा हेतु महिलाओं को प्रोत्साहन की व्यवस्था, उच्च शिक्षा हेतु प्रेरित करने के लिए इंटर उत्तीर्ण होने पर अविवाहित महिलाओं को 25,000 तथा स्नातक उत्तीर्ण होने पर महिलाओं को 50,000 रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रत्येक प्रमंडल में टूल रूम एवं ट्रेनिंग सेंटर स्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 20 लाख रोजगार का सृजन किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि कुशल युवा कार्यक्रम के अंतर्गत सभी 534 प्रखंडों में 1609 प्रशिक्षण केंद्र संचालित हैं. अब तक 1004147 आवेदकों को प्रशिक्षण दिया गया है एवं 112092 आवेदक प्रशिक्षणरत हैं.  उन्होंने कहा कि सुशासन के अंतर्गत आत्मनिर्भर बिहार के सात निश्चय पार्ट-2 की योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु बेहतर इंतजाम सुनिश्चित किए गए हैं। वत्तीय वर्ष 2021-22 में सात निश्चय-2 योजना के लिए 4671 करोड़ रुपए का बजटीय प्रावधान किया गया है. उन्होंने कहा कि सभी गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था सुनिश्चित कराते हुए स्वच्छ गांव-समृद्धि गांव के लक्ष्य को पूरा किया जाएगा. लगाए गए सोलर स्ट्रीट लाइट के नियमित अनुरक्षण की भी व्यवस्था की जाएगी.

वित्त मंत्री ने कहा कि गांवों में संपर्क सड़क बनाने की योजना बनाई गई है, जिसके लिए 250 करोड़ का प्रावधान किया गया है. उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में बाईपास और फ्लाई ओवर बनाये जाएंगे, जिसके लिए बजट में 200 करोड़ का प्रावधान किया गया है.  उन्होंने कहा कि बुजुर्गो के लिए आश्रय स्थल बनाए जाएंगे, बजट में इसके लिए 90 करोड़ की व्यवस्था की गई है.

उन्होंने अंत में शेर पढ़ते हुए कहा, “उनसे शिकवा है कि मेरी उड़ान कुछ कम है, मुझे यकीन है कि ये आसमां कुछ कम हैं. वाकिफ कहां जमाना हमारी उड़ान से वो और थे जो हार गए आसमां से, रख हौसाला वो मंजर भी आएगा, प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा.  थककर न बैठ ए मंजिल के मुसाफिर, मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मजा भी आएगा.”




Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।

Check Also

बालाकोट एयर स्ट्राइक की सालगिरह पर राजनाथ सिंह ने IAF को किया सलाम, बोले- गर्व है

बालाकोट एयर स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय वायु सेना (आईएएफ) …