देश के लिए 17 गोल्ड मेडल जीतने वाले बॉक्सर दिनेश आज कुल्फ़ी बेचने को है मजबूर

0
157
Loading...

हरियाणा: देश को 17 गोल्ड जीत कर देने वाले हरियाणा के बॉक्सर दिनेश कुमार आर्थिक स्थिति ख़राब होने के कारण अब पिता के साथ कुल्फी बेचने के लिए मजबूर हैं। दिनेश ने बॉक्सिंग में इंटरनेशनल और नेशनल लेवल पर 17 गोल्ड, 1 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं। इसके लिए भारत सरकार ने उन्हें अर्जुन अवॉर्ड के भी सम्मानित किया था। लेकिन सम्मान के अलावा सरकार ने दिनेश और कोई सहायता नहीं दी। आलम यह है की कर्ज लेकर खेलने वाले दिनेश अब कुल्फी बेचकर लोन चूका रहे हैं।

दिनेश को कुछ साल पहले एक सड़क दुर्घटना में चोट लग गयी थी। उस समय इलाज कराने के लिए दिनेश के पिता ने लोन लिया था। दुर्घटना के बाद से दिनेश का बॉक्सिंग करियर खत्म हो गया। दिनेश की बॉक्सिंग ट्रेनिंग के लिए भी पिता ने लोन लिया था। पिता को उम्मीद थी की बेटा बॉक्सिंग करेगा तो लिया गया लोन भी अदा हो जायेगा और देश के लिए खेलेगा भी, लेकिन किस्मत को कुछ और ही लिखा था।

दिनेश ने बताया की वह नेशनल और इंटनेशनल लेवल पर खेल चुका है। दिनेश ने बताया की वह बॉक्सिंग करियर में 17 गोल्ड, एक सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं। पिता ने मेरे बॉक्सिंग ट्रेनिंग के लिए भी लोन लिया था। जो मुझे अब चुकाना है। कहा की लोन चुकाने के लिए अब मै पिता के साथ कुल्फी बेचता हूँ। उन्होंने कई बार सरकार से प्रयास किया कि उन्हें कोई नौकरी दे दी जाए, जिससे वह अपना जीवन यापन कर सके। लेकिन सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया।

दिनेश की मांग है कि, सरकार उन्हें बतौर कोच राज्य में कोई नौकरी दे। ताकि वह नौजवान बॉक्सर को इंटरनेशनल लेवल के लिए तैयार कर सकें। मैं सरकार से विनती करता हूँ की वो मेरा कर्ज उतारने के लिए मदद दे।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Loading...