ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर का दावा, सितम्बर तब बन पाएगी कोरोना वायरस की वैक्सीन

कोरोना संकट के कारण पूरी दुनिया परेशान है, ये बीमारी दुनिया के लिए एक बड़ी चुनौती बन गई है। कोरोना से दुनिया में 22 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं, जबकि डेढ़ लाख से अधिक लोगों की मौत हो गई है। लगातार कई देशों में इस बीमारी का इलाज खोजने के लिए शोध किये जा रहे हैं। सर्वाधिक प्रभावित देशों की सूची में शामिल ब्रिटेन भी उन देशों में शामिल है, जहां के वैज्ञानिक कोरोना का उपचार खोजने के लिए शोध कर रहे हैं।

अब ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में वैक्सीनोलॉजी डिपार्टमेंट की प्रोफेसर सारा गिल्बर्ट ने कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने का दावा किया है।शुक्रवार को पत्रकारों से बात करते हुए गिलबर्ट ने वैक्सीन के सितंबर तक आ जाने का दावा करते हुए कहा कि हम महामारी का रूप लेने वाली एक बीमारी पर काम कर रहे थे, जिसे एक्स नाम दिया गया था। इसके लिए हमें योजना बनाकर काम करने की जरूरत थी।

सारा गिल्बर्ट ने कहा कि ChAdOx1 तकनीक के साथ इसके 12 परीक्षण किए गए हैं। हमें एक डोज से ही इम्यून को लेकर बेहतर परिणाम मिले हैं, जबकि आरएनए और डीएनए तकनीक से दो या दो से अधिक डोज की जरूरत होती है। उन्होंने ने इसका क्लीनिकल ट्रायल शुरू हो जाने की जानकारी दी और सफलता का विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि इसकी एक मिलियन डोज इसी साल सितंबर तक उपलब्ध हो जाएगी।

लगातार दुनिया में महामारी का कहर बढ़ता ही जा रहा है, इस समय पूरी दुनिया थम सी गई गई। लगातार लोगों की मौतों का अकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। काफी मुल्कों में बंदी के कारण काफी लोगों को भूखे ही सोना पढ़ रहा है।

Check Also

पाकिस्तान प्लेन क्रैश का वीडियो आया सामने, 2 लोगो के जिन्दा होने की खबर

शुक्रवार को पाकिस्तान इंटरनेशनल की फ्लाइट A320 लैंडिंग से ठीक पहले दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी। …