बुलंदशहर हिंसा: मुख्यमंत्री हमेशा गाय…गाय कहते रहते हैं, अखलाख केस की जांच की वजह से भाई की हुई हत्या

0
80

यूपी: बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की बहन का कहना है की मेरे भाई को अखलाख केस की जांच की वजह से मारा गया है। यह पुलिस की ही साजिश है। मेरे भाई को शहीद घोषित कर स्मारक बनना चाहिए।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में सुबोध सिंह की बहन ने कहा की, मेरा भाई अख्लक मामले की जांच कर रहा था और यही कारण है कि वह पुलिस द्वारा षड्यंत्र, उसकी हत्या कर दी गई थी। उन्हें शहीद घोषित किया जाना चाहिए और स्मारक का निर्माण किया जाना चाहिए। हमें पैसा नहीं चाहिए, मुख्यमंत्री हमेशा गाय…गाय कहते रहते हैं।

वही सुबोध के बेटे ने कहा की, पापा चाहते थे कि मैं एक देश का अच्छा नागरिक बनूं, वह धर्म के नाम पर हिंसा कभी नहीं चाहते थे। आज मेरे पिता ने हिंदू-मुस्लिम की लड़ाई में अपनी जान दे दी। कल किसके पिता अपनी जान गवाएंगे’, इसके अलावा शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की पत्नी का कहना है की, मेरे पति एक इमानदार पुलिस वाले थे। सारी जिम्मेदारी अपने ऊपर ले लेते थे। यह पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले भी उनको दो बार गोली मारकर हत्या करने का प्रयास किया गया है। लेकिन अब न्याय तभी माना जाएगा जब हत्यारों को मारा जाएगा।

गौरतलब है की बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी के अफवाह में हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक सुमित नाम के शख्स की गोली लगने से मौत हो गई थी। भीड़ ने थाने पर पथराव के साथ-साथ कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। फ़िलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और सुमित को गोली किसने मारी, इसके अलावा पुलिस ने इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है और 27 के खिलाफ नामजद और 50 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया है।

loading...