बुलंदशहर हिंसा: 29 दिन से फरार चल रहा मुख्य आरोपी बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज गिरफ्तार

0
195
Loading...

उत्तर प्रदेश: गौकशी के अफवाह में हुयी बुलंदशहर हिंसा और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या के मामले में फरार चल रहे मुख्य आरोपी योगेश राज को यूपी पुलिस ने बुधवार रात गिरफ्तार कर लिया। वही योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक है और हिंसा के बाद से 29 दिन से फरार था। अब तक इस हिंसा में 18 लोगों को गिरफ्तार किया जा चूका है।

बता दें कि पुलिस ने इन आरोपियों के घर कुर्क करने के नोटिस लगाए थे। जिसके बाद विहिप नेता विशाल त्यागी ने आत्मसमर्पण कर दिया था। लेकिन वही एक अन्य मुख्य आरोपी बजरंग दल के नेता योगेश राज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर था। जिसे बुधवार रात गिरफ्तार किया गया है। बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली मरने वाले प्रशांत नट को पुलिस ने 27 दिसंबर को गिरफ्तार किया था। इसके अलावा वीडियो के माध्यम से इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पिस्टल चुराने वाले जॉनी को भी पहचान लिया गया है पुलिस ने प्रशांत नट और जॉनी को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या का आरोपी बनाया है तो वही योगेश राज को स्याना में हिंसा भड़काने का मुख्य आरोपी बनाया गया था।

फरार चल रहे आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की पांच टीमें बनाई गई थी। जिसमे गिनौरा नगली, स्याना, चिंगरावठी, महाब, खानपुर, हरबानपुर, नया बांस, चांदपुर पूठी और लौंगा गांवों में जाकर पुलिस ने आरोपियों के घरों और गलियों में कुर्की के नोटिस लगाने से पहले घोषणा कराई।

गैरतलब है की, पुलिस ने इस मामले में 87 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जिसमे 27 नामजद और 60 अज्ञात है। कुछ तो भाजपा, बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद जैसे संगठनों से जुड़े हैं। पुलिस पहले ही इनके खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट जारी कर चुकी थी। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया की, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी जिसमे सुमित नामक युवक की मौत हो गयी थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार, इस हिंसा में वीडियो फुटेज और कुछ लोगों की गवाही के बिनाह पर इंस्पेक्टर की हत्या में प्रशांत नट को संदिग्ध पाया गया था। जिसे 27 दिसंबर को गिरफ्तार किया कर लिया गया था।बतादें कि पुलिस ने स्याना हिंसा में अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। और 6 से ज्यादा लोगों ने कोर्ट में सरेंडर किया है।

Loading...