‘CAA हिंसा: आरोपियों का पोस्टर चौराहे पर लगाने पर हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान, मामले पर 3 बजे होगी सुनवाई’

योगी सरकार द्वारा लखनऊ में नागरिकता कानून मामले में आरोपियों की तस्वीर सड़क किनारे पोस्टर के रूप में लगाने के मामले में योगी सरकार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है। हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए लखनऊ के डीएम और पुलिस कमिश्नर को किया तलब।

गौरतलब है की 19 दिसंबर 2019 को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लखनऊ में हुई हिंसा में आगजनी व तोड़फोड़ को लेकर प्रशासन शिकंजा कसते हुए हिंसा करने वालो की शहर भर में होर्डिंग्स लगायी थी। लखनऊ जिला प्रशासन द्वारा राजधानी लखनऊ के प्रमुख चौराहों पर 100 होर्डिंग्स लगायी थी।

इन होर्डिंग में चिन्हित 57 लोगों के नाम पते उजागर किए गये है। बता दें कि 19 दिसंबर को विभिन्न संगठनों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान आगजनी व तोड़फोड़ हुई थी।

वही लखनऊ जिला प्रशासन द्वारा राजधानी लखनऊ के प्रमुख चौराहों पर होर्डिंग्स लगाने को लेकर हाईकोर्ट ने पूछा किस नियम के तहत लगाया फ़ोटो। जिस पर चीफ़ जस्टिस ने लिया स्वतः संज्ञान। वही कोर्ट ने आदेश दिया की 3 बजे से पहले हॉर्डिंग्स हटाई जाएं। इस मामले पर हाईकोर्ट में 3 बजे सुनवाई होगी सरकार का पक्ष एडवोकेट जनरल रखेंगें।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …