3.2 C
India
Tuesday, December 18, 2018

सावधान, हिमालय में तीव्र भूकंप आने का समय नज़दीक आ चुका है- रविश कुमार

दिल्ली से भूकंप की छपने वाली ख़बरों की भाषा पर ग़ौर कीजिएगा। जो हमारी सोच में होता है, वही भाषा में आ जाता है।...

झंडे के रंग से नहीं मार्च को किसानों की रंगत से देखिए- रविश कुमार

किसान मार्च में सबको एक ही रंग दिखा। एक ही रंग की राजनीति दिखी। लेकिन दो सौ संगठनों के इस मार्च में झंडों के...

दिल्ली की सडक पर किसान मार्च आहट है डगमगाते लोकतंत्र का- पुण्य प्रसून बाजपाई

कोई नंगे बदन । कोई गले में कंकाल लटकाये हुये । तो कोई पेट पर पट्टी बांधे हुये । कोई खुदकुशी कर चुके पिता...

हिमाचल से दूध के दाम का हिसाब आया है, लूट का हिसाब आया है-...

किसान मार्च पर कार्यक्रम के बाद हिमाचल प्रदेश से एक दर्शक का संदेश आया। संदेश अंग्रेज़ी में था। उन्होंने बताया कि उना में हमारे...

अयोध्या की धर्म सभा और बनारस की धर्म संसद के बीच जा फंसी सियासत-...

इधर अयोध्या उधर बनारस । अयोध्या में विश्व हिन्दु परिषद ने धर्म सभा लगायी तो बनारस में शारदा ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद...

संघ कौवे के पीछे भाग रहा है और बीजेपी रिजल्ट बाद की रणनीति बनाने...

होना तो यही चाहिये था कि संघ अपने कान को देखता लेकिन वह भी कौवे के पीछे ही भाग रहा है । चाय की...

गानों की दुनिया का अज़ीम सितारा था,मोहम्मद अज़ीज़ प्यारा था- रविश कुमार

काम की व्यस्तता के बीच हमारे अज़ीज़ मोहम्मद अज़ीज़ दुनिया को विदा कर गए। मोहम्मद रफ़ी के क़रीब इनकी आवाज़ पहचानी गई लेकिन अज़ीज़...

EPFO के आंकड़ों को समझे का तरीका और ईज़ ऑफ इडिंग नथिंग का ढिंढोरा-...

Huffington post के अक्षय देशमाने ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दावेदारी को लेकर एक लंबी स्टोरी की है। अक्षय ने लिखा है कि...

अमित शाह का पीछा करती फ़र्ज़ी एनकाउंटर की ख़बरें और ख़बरों से भागता मीडिया-...

नहीं छपने से ख़बर मर नहीं जाती है। छप जाने से अमर भी नहीं हो जाती है। मरी हुई ख़बरें ज़िंदा हो जाती हैं।...

पुण्य प्रसून बाजपेयी: ‘सुषमा ना तो मोदी है ना ही योगी’

सुषमा स्वराज ना तो नरेन्द्र मोदी की तरह आरएसएस से निकली है और ना ही योगी आदित्यनाथ की तरह हिन्दु महासभा से ।...

चर्चित खबरे