3.2 C
India
Tuesday, December 18, 2018

मतदान के घमासान के बीच से एक रिपोर्टर की व्हाट्स एप डायरी- रविश कुमार

सोमेश पटेल छत्तीसगढ़ से एनडीटीवी के लिए सूचनाएं भेजते रहते हैं। चूंकि मैं न्यूज़ की प्रक्रिया में सक्रिय रूप से शामिल नहीं रहता इसलिए...

पुण्य प्रसून बाजपेयी: देश ऐसे नहीं चलता है साहेब…

सीबीआई, सीवीसी,सीआईसी, आरबीआई और सरकार । मोदी सत्ता के दौर में देश के इन चार प्रीमियर संस्थान और देश की सबसे ताकतवर सत्ता की...

लोकतंत्र हडपने पर जब सत्ता आमादा हो तब सुप्रीम कोर्ट को ही पहल करनी...

कार का सवाल । राष्ट्रपति ट्रंप का गुस्सा । पत्रकार को व्हाइट हाउस में घुसने पर प्रतिबंध । मीडिया संस्थान सीएनएन का राष्ट्रपति के...

क्या PM MODI मध्य प्रदेश की एक सभा में मेरा लिखा एक भाषण पढ़...

आज मैंने भाषण का तरीका बदल दिया है। मैंने अलग अलग फार्मेट में भाषण दिए हैं लेकिन आज मैं वो करने जा रहा हूं...

देश के लिये महत्वपूर्ण हो चला है विधानसभा चुनाव से लोकसभा चुनाव तक का...

किसान की कर्ज माफी और रोजगार से आगे बात अभी भी जा नहीं रही है । और बीते ढाई दशक के दौर में चुनावी...

कालेजों में शिक्षक नहीं हैं तो छत्तीसगढ़ के छात्र कालेज जाना ही बंद कर...

घोषणापत्र देखकर भले जनता वोट न करती हो मगर चुनावों के समय इसे ठीक से देखा जाना चाहिए। दो चार बड़ी हेडलाइन खोज कर...

वर्तमान राजनीतिक संघर्ष और मिल्ली तंजीमों का रोल’

आज देश में जिस प्रकार से मिल्ली तंजीमों पर सवाल उठने लगे हैं वो चिंताजनक है। मिल्ली तंजीमों के लिए भी ये आत्ममंथन का...

अमेरिकी मीडिया बनाम भारतीय मीडिया यानी लोकतंत्र के दो चेहरे-पुण्य प्रसून वाजपेयी

मौजूदा वक्त में जिन हालातो से भारतीय मीडिया दो चार हो रहा है या फिर पत्रकारो के सामने जो संकट है उस परिपेक्ष्य में...

रविश का सवाल- क्या दस्सां के सीईओ एरिक ट्रैपिये रफाल के अलावा सत्तू भी...

दस्सां एविएशन के सीईओ एरिक ट्रैपिये के इंटरव्यू के एक ही हिस्से की चर्चा हुई, शायद इसलिए क्योंकि गोदी मीडिया को लगा होगा कि...

#beyondfakenews जब देश का प्रधानमंत्री ही झूठ बोलने लगे तो कौन पुलिस उनके ख़िलाफ़...

कल लखनऊ में बीबीसी के #beyondfakenews में कहा था कि जब भारत के प्रधानमंत्री ही झूठ बोलें तो कौन पुलिस उनके ख़िलाफ़ एफ आई...

चर्चित खबरे