केंद्र सरकार का आदेश: देश में मौजूद रोहिंग्या शरणार्थियों का होगा कोरोना टेस्ट, तबलीगी जमात से जुड़े होने की ख़बर

इस वक़्त कोरोना संकट से देश जूझ रहा है। देश की सरकार समेत कई लोग दिन रात मेहनत करके किसी भी प्रकार से वायरस के प्रसार को रोकने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच केंद्र सरकार दवारा एक बड़ा फैसला लिया गौ है, सरकार ने सभी राज्यों को आदेश दिया है कि रोहिंग्या शरणार्थियों के कोरोना टेस्ट की व्यवस्था की जाए। उनके अनुसार इनमें से कई लोग दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

इस मामले में अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों से किए गए संवाद में कहा गया कि ऐसी सूचना है कि कई रोहिंग्या मुसलमान तबलीगी जमात के ‘इज्तिमास’ और अन्य धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल हुए थे और उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका है। मंत्रालय ने कहा है कि, हैदराबाद के शिविर में रहने वाले रोहिंग्या हरियाणा के मेवात में आयोजित तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे और वे दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित मरकज भी आए थे।

गृह मंत्रालय ने बताया, देश के कई हिस्सों से लोग इस कार्यक्रम में भाग लेने आए थे। ऐसे में जल्द से जल्द रोहिंग्या मुसलमानों और उनके संपर्क में आने वालों की कोरोना टेस्ट कराने की आवश्यकता है। इसी के आधार पर प्राथमिकता के आधार पर कदम उठाने की जरूरत है। केंद्र सरकार के अनुसार देश में अभी 40 हजार से अधिक रोहिंग्या दिल्ली, जम्मू समेत देश के अन्य इलाकों में रहते हैं। पिछले महीने जम्मू में रहने वाले आठ रोहिंग्या मुस्लिमों को निजामुद्दीन स्थित मरकज में शामिल होकर लौटने के बाद पृथकवास में रखा गया था।

देश में Coronavirus तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक करोना से संक्रमित लोगों की संख्या 13,835 हो गई है, जिसमें से 11,616 सक्रिय मामले हैं वहीं 452 लोगों की मौत हो गई है, साथ ही 1766 लोग ठीक हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 1006 नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं और 32 लोगों ने जान गई है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …