छत्तीसगढ़, डॉक्टर्स के उड़ गए होश, जब सामने आई 24 वर्षीय लड़की की मेडिकल रिपोर्ट, नहीं था प्राइवेट पार्ट, जिसके कारण..

छत्तीसगढ़: रायपुर से एक बेहत अजीबो गरीब मामला सामने आया है, यहां एक 24 वर्षीय लड़की अनोखी बीमारी का शिकार हुई है, जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। इस बीमारी का नाम मेयर-रोकितांस्की है, इससे पीड़ित लड़की को सफल ऑपरेशन दवारा नई जिंदगी मिली है। यह युवती मासिक धर्म ना होने की समस्या से जूझ रही थी। परिजनों ने काफी डॉक्टरों का इलाज किया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। लेकिन डीकेएस अस्पताल में लड़की को फायदा हुआ यहां लड़की की सोनीग्राफी हुई जिसमें पता चला कि युवती का प्राइवेट पार्ट व गर्भाशय नहीं है।

डॉक्टर धु्रव ने लड़की को कुछ दवाएं दी और फिर ऑपरेशन के लिए कहा, परिजन ऑपरेशन के लिए तैयार हुए जिसके बाद डॉ. धु्रव, सर्जरी विभाग के डॉ. राकेश प्रधान और निश्चेतना विभाग के डॉक्टर दीपक सिंह ने युवती का सफल ऑपरेशन किया। डॉक्टर धुरव ने कहा कि-” युवती में मासिक धर्म ना होने की समस्या प्राइवेट पार्ट और गर्भाशय के न होने की वजह से हैं और एबी-मेकिंडो प्रणाली से करीब सवा दो घंटे तक ऑपरेशन कर युवती के मांस से उसका कृत्रिम प्राइवेट पार्ट बनाया गया। युवती अब पूरी तरह से स्वस्थ्य है। सफल ऑपरेशन के बाद युवती को डिस्चार्ज कर दिया गया है।”

डॉक्टर ने बताया कि सिंड्रोम की कमी 5000 महिलाओं में से कोई एक महिला प्रभावित होती है और इस बीमारी के प्रति सभी को जागरूक होना चाहिए। सबसे फायदेमंद बात तो ये है कि यदि आप इसका इलाज अगर किसी अस्पताल में कराते है तो इसमें तकरीबन 1 लाख रुपय का खर्चा आएगा परंतु यदि आप इसका उपचार डीकेएस में कराते हैं तो आपका कोई भी पैसा खर्च नहीं होगा, इसका उपचार डीकेएस में बिल्कुल फ्री होगा।

Check Also

शादी करके जिसे पति लाया घर, सुहागरात में वो निकला एक मर्द, सच्चाई जानकर चौंक गए सब

एक चौकाने वाली घटना सामने आई जिसमे सभी के होश उड़ गए। घटना इंडोनेशिया की …