CM अरविंद केजरीवाल: निजामुद्दीन मरकज़ से निकाले गए 1548 में से 441 कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलो के बीच निजामुद्दीन मरकज में बड़ी संख्या में लोगो के मौजूद होने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। मंगलवार को डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया की, ”निजामुद्दीन मरकज में से जिन लोगों को निकाला गया है उनमें से बहुत सारे मामले पॉजिटिव सामने आ सकते हैं. मरकज में 12-13 मार्च के आसपास एक फंक्शन के लिए लोग इकट्ठे हुए थे। काफी लोग चले गए थे, कुछ लोग रुक गए थे। यहां 24 केस पॉजिटिव मिले हैं। वहां से 1548 लोगों को निकाला गया। उनमें से 441 लोगों में कोरोना के लक्षण थे। उनको अस्पताल में पहुंचाया गया है। कुल 1107 को क्वारन्टीन में भेज दिया गया है।”

केजरीवाल ने कहा कि ”दिल्ली में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 97 मामले सामने आए हैं. इनमें से 5 लोग ठीक हो गए हैं. दो की मौत हो गई है और 89 का उपचार चल रहा है. केवल एक व्यक्ति वेंटीलेटर पर है और दो को ऑक्सीजन लगाई गई है.”

मुख्यमंत्री ने कहा कि ”हमने 97 मामलों का आकलन करके समझना चाहा कि कहीं कोरोना वायरस फैल तो नहीं रहा. इन 97 मामलों में से 24 मामले मरकज के हैं. उन्होंने कहा कि लोकल ट्रांसमिशन कंट्रोल में है. कम्युनिटी ट्रांसमिशन अभी नहीं है।”

मुख्यमंत्री ने आगे बताया कि ”मरकज में से जिन लोगों को निकाला गया है उनमें से बहुत सारे मामले पॉजिटिव सामने आ सकते हैं. मरकज में 12-13 मार्च के आसपास एक फंक्शन के लिए लोग इकट्ठे हुए थे. काफी लोग चले गए थे, कुछ लोग रुक गए थे. यहां 24 केस पॉजिटिव मिले हैं. वहां से 1548 लोगों को निकाला गया. उनमें से 441 लोगों में कोरोना के लक्षण थे. उनको अस्पताल में पहुंचाया गया है. कुल 1107 को क्वारन्टीन में भेज दिया गया है.”

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि ”दुनिया भर में लोग मर रहे हैं और ऐसे में हम लोग ऐसी गैर जिम्मेदाराना हरकत कर रहे हैं कि लोग इकट्ठे हो रहे हैं. सारे धार्मिक स्थल खाली पड़े हैं. ऐसे में इतनी बड़ी संख्या में लोगो को इकठ्ठा करना बिल्कुल गलत था। यहां से बहुत सारे लोग निकलकर देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच गए और किन-किन लोगों को इससे नुकसान पहुंच चुका होगा यह सोचकर भी डर लग रहा है. सभी धार्मिक नेताओं से अपील है कि ऐसा मत कीजिए. चाहे आप किसी भी धर्म के हों, हर इंसान की जिंदगी प्यारी है।”

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जानकारी दी की, एफआईआर करने के निर्देश दे दिए गए हैं आशा है की गवर्नर जल्दी कार्रवाई करेंगे। जिस भी अफसर की गलती पायी जाएगी उसे छोड़ा नहीं जायेगा। बताया की जो लोग मरकज से निकलकर तेलंगाना गए उनकी मौत हो गयी है।

Check Also

केरल: गर्भवती हथिनी को खिलाया पटाखों से भरा अनानास, जबड़ा फटा, हो गयी गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत

केरल में कुछ शरारती लोगो ने एक गर्भवती हथिनी के मुँह में पटाखों से भरा …