Coal Scam Case: सीबीआई ने तृणमूल सांसद अभिषेक की पत्नी से 2 घंटे से भी ज्यादा समय तक पूछताछ की

0


Coal Scam Case: सीबीआई ने तृणमूल सांसद अभिषेक की पत्नी से 2 घंटे से भी ज्यादा समय तक पूछताछ की

तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी

कोलकाता, 23 फरवरी : केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के अधिकारियों की एक टीम ने सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) की पत्नी रुजिरा बनर्जी से कोयले की अवैध तस्करी मामले में दो घंटे से भी अधिक समय तक पूछताछ की. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की प्रमुख ममता बनर्जी के अपने भतीजे अभिषेक के घर से निकलने के कुछ देर बाद ही यहां सीबीआई की टीम पहुंच गई थी. ममता बनर्जी यहां करीब 10 मिनट रुकी थीं. सीबीआई की टीम, जिसका नेतृत्व जांच अधिकारी उमेश कुमार कर रहे थे, वह दो घंटे की पूछताछ के बाद रुजिरा के आवास से चली गई. इस टीम में कुछ महिला अधिकारी भी शामिल थीं. सीबीआई सूत्रों के अनुसार, अभिषेक की पत्नी से उनके विदेशी खाते में कुछ बैंक लेनदेन के बारे में पूछताछ की गई थी. हालांकि इस संबंध में एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारियों ने अभी कोई बयान नहीं दिया है.

सीबीआई टीम ने पिछले साल नवंबर में दर्ज मामले के संबंध में पूछताछ के लिए रविवार को रुजिरा को नोटिस दिया था. एजेंसी ने कोयला चोरी के मामले में रुजिरा की भूमिका को पाया है. हालांकि मामले में उन्हें आरोपी नहीं बनाया गया है. तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के अपने भतीजे अभिषेक के घर से निकलने के कुछ देर बाद ही सीबीआई की टीम पहुंच गई थी. ममता बनर्जी अभिषेक के घर करीब 10 मिनट रुकी थीं. इससे पहले सोमवार को सीबीआई की 8 सदस्यीय टीम ने इसी सिलसिले में रुजिरा की बहन मेनका गंभीर से ढाई घंटे तक पूछताछ की थी. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के पहले अभिषेक की पत्नी और उनकी साली पर सवाल उठाने से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया है. तृणमूल कांग्रेस ने केंद्रीय एजेंसी की कार्रवाई को राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है. यह भी पढ़ें :Coal Scam Case: पत्नी को CBI का नोटिस मिलने के बाद ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने बोला हमला, कहा- हम वो नहीं, जिसे झुकाया जा सके

इससे पहले सीबीआई ने इस मामले में कथित किंगपिन (प्रमुख साजिशकर्ता) अनूप मांझी उर्फ लाला के खिलाफ मामला दर्ज किया था. एजेंसी ने इसके साथ ही ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड के आला अधिकारियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है. कोयला तस्करी गिरोह मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी ने पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के 45 स्थानों पर पिछले साल 28 नवंबर को छापे मारे थे. सीबीआई ने 19 फरवरी को कोयला माफिया जयदेव मोंडल के परिसर सहित पश्चिम बंगाल के चार जिलों में 13 स्थानों पर तलाशी ली थी.





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।