कंप्‍यूटर बाबा ने मंत्री पद से दिया इस्‍तीफा, कहा शिवराज ने मंत्री तो बनाया, पर काम करने नहीं दिया

0
314
Loading...

मध्य प्रदेश: भारतीय जनता पार्टी की मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार में मंत्री स्‍वामी नामदेव त्‍यागी उर्फ कंप्‍यूटर बाबा ने सोमवार को अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कुछ काम करने नहीं दिया। मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कंप्यूटर बाबा ने कहा की मुझे ऐसा लगा की शिवराज धर्म के ठीक विपरीत है और धर्म का कुछ काम करना ही नहीं चाहते। जिसके वजह से मैंने इस्तीफा दे दिया। वही कंप्यूटर बाबा के मंत्री पद से इस्तीफा देने पर MP में बीजेपी को विधानसभा चुनाव से पहले तगड़ा झटका लगा है।

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद स्‍वामी नामदेव त्‍यागी उर्फ कंप्‍यूटर बाबा ने न्यूज़ एजेंसी ANI को बताया की, हमारे पास एक प्रणाली है जहां सभी संत एक साथ बैठते हैं और चीजों पर फैसले लेते हैं। उनका कहना है की मैं शिवराज सरकार में कुछ नहीं कर पाया। मुझे लगता है कि यह सही कह रहे हैं। मुझे ऐसा लगा की शिवराज धर्म के ठीक विपरीत है और धर्म का कुछ काम करना ही नहीं चाहते। जिसके वजह से मैंने इस्तीफा दे दिया। उन्होंने आगे कहा की अवैध खनन और गाय पर चर्चा करना चाही, पर मुझे उसकी परमिशन नहीं दी गई। जब मैं सरकार के सामने साधुओं के विचार भी नहीं रख सकता तो मुझे इस सरकार का हिस्सा बनकर नहीं रहना है।

आपको बतादे की विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार ने पांच हिंदू संतों को मंत्रिमंडल में जगह दी थी। जिसमे स्‍वामी नामदेव त्‍यागी उर्फ कंप्‍यूटर बाबा, नर्मदानंदजी, हरिहरानंदजी, भैय्यूजी महाराज और पंडित योगेन्‍द्र महंत शामिल है। सभी को शिवराज सरकार ने राज्‍य मंत्री का दर्जा भी दिया था। सभी को नर्मदा संरक्षण समिति का सदस्‍य भी चुना गया था।
ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Loading...