अयोध्या में 1992 जैसे बन रहे हालात- डरे लोग जमा कर रहे राशन, शहर में PAC, CRPF भारी संख्या में तैनात

0
111

उत्तर प्रदेश: अयोध्या में रविवार (25 नवंबर) को विश्व हिंदू परिषद द्वारा होने वाली विशाल धर्म सभा से पहले अयोध्या में फिर से 1992 जैसे माहौल पैदा हो गये है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को जुलुस निकालते हुये तेज़-तेज़ से ‘राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे’ के नारे लगा रहे थे। जिसके बाद से इलाके में डर का माहौल पैदा हो गया है। डर से सहमे हुये लोग हालात बिगड़ने की सोचकर अभी से ज्यादा राशन जमा करने लगे है। माहौल को ध्यान में रखकर शहर में सुरक्षा के कड़े इंतेजाम किये गए है। चप्पे-चप्पे पर सीआरपीएफ, पीएसी और यूपी पुलिस के जवान तैनात किये गए है।

सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट्स में यह भी है की राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादित जगह के आसपास किसी भी सूरत में उल्लंघन नहीं होने देंगे। सुरक्षा के लिए कितने जवानो को लगाया गया है अधिकारियों के पास इसकी जानकारी नहीं है। लेकिन ये जरूर बताया की विवादित स्थल के अंदर और बाहर घेरे में भारी सुरक्षाबल तैनात किये गए है।

वहीं विश्व हिंदू परिषद नेता भोलेंद्र सिंह ने बताया की इस विशाल धर्म सभा से हिंदू-मुस्लिम परिवार डरे हुये है। और इसीलिए वह अभी से अतिरिक्त राशन जुटा रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि शहर में धारा 144 लागू होने के बाद भी विहिप को गुरुवार को जुलूस निकालने से रोक नहीं पाए। यह जुलुस हिंदू संगठन बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने निकाला था। यह जुलूस मुस्लिम बहुल इलाकों से होते हुए निकला और कार्यकर्ता तेज़-तेज़ से ‘राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे’ के नारे लगा रहे थे।

फैजाबाद के डिविजनल कमिशनर मनोज मिश्रा ने अखबार को बताया की, सिर्फ दर्शन करने वालों को ही रामलला के यहाँ जाने दिया जायेगा। लेकिन स्थानीय व्यापारियों को डर है की कही 6 दिसंबर 1992 जैसे हालात दोबारा पैदा ना हो जाये। यही कारण है कि उन्होंने इस सभा का विरोध करने का फैसला किया है। वे महाराष्ट्र से आ रहे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को काला झंडा दिखा कर अपना विरोध जताएंगे।

पार्षद हाजी असद ने इस बारे में बताया कि कुछ मुसलमानों ने तो मौजूदा माहौल देखकर डर के मारे इलाका ही छोड़ दिया है, वही कमिश्नर का कहना था कि जिला प्रशासन खासकर मुस्लिम बहुल इलाकों पर निगरानी कर रहा है और वहां सुरक्षा के पर्याप्त इंतेजाम किये गए हैं। वही 25 नवंबर को होने वाली विशाल धर्म सभा में विहिप को एक लाख से ज्यादा लोगो के हिस्सा लेने की संभावना है।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...