कांग्रेस ने कहा: जली को आग कहते हैं बुझी को राख कहते हैं, ‘जो महामारी को भी महोत्सव बना दे, उसे नरेंद्र दामोदर दास कहते हैं’

कोरोना वायरस से लड़ाई के खिलाफ पीएम मोदी ने लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए, बीते रविवार दीया जलाने की अपील की थी। इससे पहले भी जनता कर्फ्यू के मौके पर उन्होंने ने थाली-ताली बजाने को कहा था। इस बीच मोदी के इस ऐलान पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस की ओर से ट्वीट किया गया और तंज कसा गया। छत्तीसगढ़ कांग्रेस की ओर से एक ट्वीट में लिखा गया, ‘जली को आग कहते हैं, बुझी को राख कहते हैं, जो महामारी को भी महोत्सव बना दे…उसे नरेंद्र दामोदर दास कहते हैं’.

ये डायलॉग मशहूर अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा की फिल्म विश्वनाथ का है, जिसको छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने मौजूदा परिस्थिति के हिसाब से बदल दिया. अगर कांग्रेस की बात करें तो पार्टी की ओर से लगातार बड़े नेता पीएम नरेंद्र मोदी के इस संबोधन पर सवाल खड़े कर रहे हैं और निशाना साध रहे हैं। राजद नेता तेज प्रताप यादव ने भी दीया जलाने वाले मामले पर ट्वीट किया और लोगों से कहा कि, वो लालटेन भी जला सकते हैं. लालटेन RJD का चुनाव चिन्ह है. इस पर अब सुशील मोदी की ओर से जवाब दिया गया।

सुशील मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ‘अब लालटेन का जमाना चला गया, गांव में भी घर-घर बिजली पहुंच गई है. दीया-मोमबत्ती हिंदू-ईसाई पूजा के लिए घर में रखते हैं. मोबाइल तो सबके पास है, इसलिए PM ने लालटेन का ज़िक्र नहीं किया. समझे बबुआ?’

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह नौ बजे देश के नाम वीडियो संदेश जारी किया, इसमें उन्होंने लोगो से अपील करते हुए कहा कि इस रविवार रात को नौ बजे लोग अपने घरों के गेट और बालकनी पर आएं और नौ मिनट के लिए दीया जलाएं. या फिर मोमबत्ती-मोबाइल की फ्लैश जलाएं, पीएम ने इसे देश को एकजुट करने का मंत्र बताया।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …