तस्वीरें: अलग, अलग वॉर्ड में कोरोना संक्रमित मां और नवजात बच्चा, दयालु नर्स ने कराई थी वीडियो कॉल

0
ANI

एक महिला के लिए मां बनने का अनुभव दुनिया की 100 खुशियों बराबर होता है, एक मां अपने नवजात को सीने से लगा ले उससे अच्छा उसके लिए कुछ नहीं होता है। लेकिन, इस कोरोना संकट में कई जगहों पर नवजात को उसकी मां से अलग रखा जा रहा है। ऐसे ही एक मामले में अस्पताल ने नवजात और उसकी मां के लिए वीडियो कॉल का इंतजाम कराया। बच्चे के जन्म के वक्त बेहोश हुई मां ने पहली बार अपने बच्चो को वीडियो कॉल पर ही देखा।

नवभारतटाइम्स में छपी खबर के अनुसार यह मामला महाराष्ट्र के औरंगाबाद का है। यहां एक महिला कोरोना संक्रमित पाई गई है, जसके बाद से उसे नवजात से अलग रखा गया है। बच्ची को उसकी मां से अलग रखकर उसका ख्याल रखा जा रहा है, ताकि वह कोरोना के संक्रमण से बची रहे क्योंकि बच्चों और बूढ़ों को कोरोना का खतरा अधिक है। बच्चों और बूढ़ों में यह जानलेवा भी हो सकता है।

इस मामले पर औरंगाबाद सिविल हॉस्पिटल के सिविल सर्जन डॉक्टर सुंदर कुलकर्णी ने कहा, ’18 अप्रैल को सिजेरियन सेक्शन के जरिए बच्चे का जन्म हुआ। बच्चे को कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया है।’ बच्चे की मां कोरोना संक्रमित है इसलिए दोनों को अलग-अलग रखा गचया है। अब अस्पताल ने वीडियो कॉल करवाकर मां को उसके बच्चे का दीदार कराया है।

तस्वीरों में आप देख सकते है कि नवजात को अलग वॉर्ड में रखा गया है, जहां नर्स मौजूद है। वहीं वीडियो कॉल पर उस नवजात की मां उसे देखकर भावुक है। कोरोना संक्रमित मां ने चेहरे पर मास्क लगाया हुआ है। फिलहाल दोनों को अस्पताल में रखा गया है। अस्पताल की ओर से बच्चे का ध्यान रखा जा रहा है और उसकी मां कोरोना से जूझ रही है।