Coronavirus, पाकिस्तान की जनता पर भड़के शोएब कहा, खुदा का खाैफ खा लो, फिर मैं कहता हूं कि कोई लाशें उठाने वाला भी नहीं होगा

कोरोना के इलाज का पता अभी तक कोई मुल्क नहीं लगा पाया है, इस सयम इस वायरस से से बचने का रास्ता सिर्फ सावधानी है। दुनियाभर में फैसे कोरोना वायरस से बचने के लिए हर देश की सरकार लोगों से घर से बहार न निकालने की अपील कर रही है। भारत के भी कई जिलों में जनता कफ्र्यू 31 मार्च तक लगा दिया गया है। लेकिन अभी तक पाकिस्तान में ऐसा कोई कड़ा कदम नहीं उठाया गया, जिसे देख पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर बेहद गुस्से में दिखाई दिए।उन्होंने पाकिस्तानी लोगों पर भड़ास निकालते हुए यह तक कह डाला कि आपकी लाशें उठाने वाला भी कोई नहीं होगा।

आपको बता दें कि पाकिस्तान में कोरोना वायरस कोविड- 19 महामारी के प्रकोप से अब तक 799 केस पॉजिटिव पाए गए हैं, जिसमे 6 लोगों की मौत भी हो चुकी है। बुरे हालात देख अख्तर ने पाकिस्तान के हालात पर चिंता जताई है। अख्तर ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा, ”हम लोगों को भारत से सीख लेनी चाहिए। वहां कर्फ्यू लगा है लोगों ने खुद को अपनी मर्जी से लॉकडाउन किया हुआ है। बांग्लादेश और रवांडा जैसे मुल्क भी इस घातक बीमारी पर अच्छा काम कर रहे हैं। लेकिन हमारे पाकिस्तान में कोई इसका डर ही नहीं। खुदा का खाैफ खा लो। अगर यहां हालात ज्यादा बिगड़ गए तो फिर मैं कहता हूं कि कोई लाशें उठाने वाला भी नहीं होगा।”

माैजूदा समय में पाकिस्तान का हाल बताते हुए उन्होंने कहा, ”मैं जब घर से बाहर निकला तो बाइक पर यहां 4-4 लोग बैठकर घूम रहे हैं। गाड़ी में लोग सवार हैं जो एकसाथ खाना खा रहे हैं। रेस्टोरेंट्स रात के 10 बजे तक खुले हैं। ये क्यों खुले हैं, इनको तो खुद देश के हित के लिए रेस्टोरेंट्स बंद करने चाहिए। वक्त की नजाकत को समझें और दो सप्ताह के लिए सबसे मिलना-जुलना बंद करें ताकि इस वायरस को प्रभावहीन किया जा सके।”

पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने पाकिस्तान की सरकार से अपील की है कि वो इसको लेकर अभी से कड़ा निर्णय लें और लोगों का घरों से बाहर निकलना बंद करें। शोएब ने कहा, ”लोगों को समझनाचाहिए कि इस बीमारी के 90 फीसदी मामले लोगों के संपर्क में आने से ही सामने आए हैं। ऐसे में लोगों को संपर्क में आने से बचना चाहिए और दो सप्ताह घर में रहने की आदत डालनी चाहिए। पंजाब (पाकिस्तान प्रांत) सरकार को यहां हालात पर काबू पाने के लिए कर्फ्यू लगाना चाहिए।”

Check Also

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा भेज दे भारत, नहीं तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे भारत, कोरोना के बीच बौखलाए प्रेसिडेंट ट्रंप

कोरोना अमेरिका में कोहराम मचाये हुए है। इसी बीच खबर आयी थी की अमेरिका के …