निर्भया गैंगरेप के दोषियों के वकील ने चला पैतरा, लटक सकती है 1 फरवरी की फाँसी

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप के 3 दोषी सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन डालने की प्लानिंग में है। मीडिया में छपी खबर के अनुसार, निर्भया गैंगरेप के दोषी अक्षय, विनय और पवन 2 दिन के भीतर सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल करेंगे।

आपको बतादें कि दोषी सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल कर जेल के अंदर अपने व्यवहार में सुधार का मुद्दा उठाएंगे और फांसी की सजा को उम्रकैद में बदलने की मांग करेंगे।

दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि जेल से पेपर मिलने में देरी की वजह से क्यूरेटिव पिटिशन सुप्रीम कोर्ट में दाखिल करने में विलम्ब हो रहा है। वकील ने बताया की हमने जेल प्रशासन से तीनों दोषियों से जुड़े अच्छे बिहार की जानकारी मांगी है। उसी आधार पर फांसी की सजा को उम्रकैद में बदलने की मांग करेंगे।

हमें पूरा भरोसा है कि सुप्रीम कोर्ट दोषियों के अच्छे व्यवहार को मद्देनजर फांसी की सजा को उम्रकैद में बदल देगी। वही वकील एपी सिंह ने जेल प्रसाशन पर आरोप लगाया कि उन्हें जेल नंबर तीन में बंद अपने मुवक्किलों से मिलने में उन्हें दिक्कत हो रही है।

माना जा रहा है कि अगर सुप्रीम कोर्ट ने इन दोषियों की क्यूरेटिव पिटिशन को एक्सेप्ट कर लेती है तो तय तारीख पर फांसी टल जाएगी। वकील एपी सिंह ने कहा कि जेल में रहते हुए विनय ने कई नेक काम किए हैं। तनावग्रस्त से जूझ रहे एक कैदी को आत्महत्या करने से विनय ने बचाया था। इसके अलावा उसने अच्छी पेंटिंग भी बनाई है। रक्तदान कैंप में भी शामिल रहा है। इस तरह अक्षय भी जेल में होने वाले सुधार कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता रहा है।

Check Also

मौलाना अरशद मदनी ने कहा, देशभर में फैले कोरोना वायरस के लिए, तब्लीगी जमात के मरकज को बदनाम करना दुखद

एशिया के सबसे बड़े इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम के मौलाना और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के …