निर्भया गैंगरेप-मर्डर के दोषियों के वकील ने राष्ट्रपति और सुप्रीम कोर्ट के जज को कहा ऐसा..

निर्भया गैंगरेप-मर्डर के दोषियों का केस लड़ रहे हैं, वकील एपी सिंह ने एक दोषी की याचिका खारिज होने के बाद कहा कि गलती किसी से भी हो सकती है और राष्ट्रपति या सुप्रीम कोर्ट के जज भगवान नहीं हैं। सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की बेंच ने बृहस्पतिवार को निर्भया केस के एक दोषी अक्षय ठाकुर की एक याचिका पर सुनवाई की। जिसमे फांसी पर रोक लगाने की मांग की गई थी, जिसको सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया।

इस दौरान मीडिया से बातचीत में दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा, “चाहे सुप्रीम कोर्ट के पांच वरिष्ठ जज हों या फिर भारत के राष्ट्रपति। वे भगवान नहीं हैं। ऐसा नहीं कि वो गलती नहीं कर सकते।”

वकील ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट क्यूरेटिव पेटिशन के आधार से सहमत नहीं थी। उन्होंने कहा कि पटियाला हाउस कोर्ट में दोषियों को फांसी देने पर रोक लगाने संबंधी याचिका भी दायर की है। वकील ने कहा, “इस मामले में एक दोषी पवन कुमार गुप्ता के नाबालिग होने के संबंध में भी एक रिव्यू पेटिशन दाखिल करेंगे।”

पटियाला हाउस कोर्ट के अनुसार चारों दोषियों मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को आगामी 1 फरवरी की सुबह 6 बजे फांसी दी जाएगी।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …