देश के पहले जुड़वा भाई-बहन ने कोरोना को हराया, 16 मई को पाए गए थे कोरोना पॉजिटिव

गुजरात में जहां कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं वहां की राज्य सरकार कोरोना के बढ़ते प्रकोप को रोकने में विफल नजर आयी हैं जिसके बाद केंद्र सरकार ने टीमों को भेजकर वहां की स्थिति का जायजा लिया था। इसी बीच वडनगर में 16 मई को जन्मे जुड़वा भाई-बहन ने कोरोना को हरा दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, बच्चों की मां कोरोना पॉजिटिव पायी गयी थी। जिसके बाद नवजात भाई-बहन का डॉक्टरों ने कोरोना टेस्ट किया था जिसमें दोनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। लेकिन जुड़वा भाई-बहन ने शुक्रवार को कोरोना को हरा दिया। वहीं डॉक्टरों ने इन बच्चों का अपने पास से ‘सुवास और स्वरा’ नाम रखा है।

वही ‘सुवास और स्वरा’ की मां भी अब कोरोना से बिल्कुल ठीक हो चुकी है। वहीं खबर यह भी है कि यह दोनों जुड़वा भाई-बहन देश के पहले को कोरोना पेशेंट बताए जा रहे हैं। बाल रोग विशेषज्ञों ने गुरुवार को बताया कि अब ‘सुवास और स्वरा’ कोरोना वायरस के खतरे से बाहर हैं उन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है ‘सुवास और स्वरा’ की मां अस्पताल में अलग-अलग भर्ती हैं लेकिन उनका इंतजार खत्म हो चुका है।

डिलीवरी के समय मां कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से नवजात बच्चों का भी कोरोना टेस्ट हुआ था। जिसमें से 1 बच्चे की रिपोर्ट पॉजिटिव बताएगी जबकि दूसरे बच्चे की निगेटिव। जिसे डॉक्टरों ने मानने से इनकार किया, दोबारा जांच हुई तो दोनों जुड़वा भाई-बहन कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यह मामला वडनगर के मेडिकल अस्पताल का बताया गया है।

Check Also

नोबेल विजेता कैलाश सत्‍यार्थी ने बाल मजदूरी को खत्म करने के लिए शुरू की खास मुहिम

नोबेल शांति पुरस्‍कार से सम्‍मानित बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्‍यार्थी ने वैश्विक नेताओं और अंतरराष्ट्रीय …