मुस्लिम लड़की से जबरन हाथ मिलाने की कोशिश पर, कोर्ट ने कंपनी पर ठोका तीन लाख का जुर्माना

0
75

स्वीडन:- उपासला काउंटी (स्टॉकहोम) की निवासी मुस्लिम युवती से जॉब इंटरव्यू के दौरान एक कंपनी के कर्मचारी को जबरन हाथ मिलाने की कोशिश करना महंगा साबित पड़ा है। स्थानीय अदालत ने कंपनी को धार्मिक भेदभाव का दोषी मानते हुए 40 हजार क्रोनर लगभग तीन लाख रु का जुर्माना लगाया है।

24 साल की स्टॉकहोम निवासी फराह ने बताया कि उसने अल्पसंख्यक समुदाय से होने के नाते वह किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहती थी, लेकिन अपनी धार्मिक भावनाओं से मज़ाक बर्दाश्त नहीं कर सकती थी। स्वीडन में प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि फराह के साथ कर्मचारी ने जानबूझकर गलत व्यवहार किया था। देश में किसी की धार्मिक स्वतंत्रता से खिलवाड़ नहीं किया जा सकता। उधर कंपनी के अधिकारियों का कहना था कि उनके यहां महिला और पुरुष कर्मचारियों से समान व्यवहार किया जाता है। ऐसे में कोई महिला किसी पुरुष कर्मचारी से हाथ मिलाने से इनकार नहीं कर सकती।

स्थानीय कोर्ट ने कहा कि यूरोप का मानवाधिकार कानून हर नागरिक की धार्मिक स्वतंत्रता का सम्मान करता है। इसलिए कंपनी महिलाओं और पुरुषों में बराबरी के लिए कंपनी सिर्फ हाथ मिलाने को आधार मान रही है। जो सही नहीं है। युवती ने अपने धर्म के मुताबिक हाथ मिलाने से इनकार किया। आपको बताते चले कि कंपनी के कर्मचारी से हाथ मिलाने से इंकार करने पर कंपनी ने फराह को नौकरी देने से साफ मना कर दिया था। जिसके बाद फराह ने स्थानीय कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। स्थानीय कोर्ट ने कंपनी के ऐसे व्यवहार को देखते हुए कंपनी पर 40 हजार क्रोनर का जुर्माना लगा दिया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here