CAA, NPR के खिलाफ खुद को आग लगाने वाले, सीपीएम नेता ने दम तोड़ा

24 जनवरी को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी- मार्क्सवादी के वयोवृद्ध नेता रमेश प्रजापति ने खुद को आग लगा ली थी। जिनकी इंदौर के एमवाई अस्पताल में मौत हो गई है। 75 वर्ष के प्रजापति पीएम मोदी दवारा लागु किये नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ थे।

जब उन्होंने अपने आप को आग लगाई तो उनके पास CAA और NRC को लेकर कुछ कागजात थे। हालत गंभीर होने पर उन्हें 24 जनवरी को अस्पताल में भर्ती किया गया था। जहां डॉक्टरों के अनुसार वह 90 फीसदी से अधिक जल चुके थे।

मामले की जाँच में लगे तुकोगंज पुलिस स्टेशन के एसएचओ नीरज कुमार जांच पूरी होने के बाद खुलासा करेंगे कि आत्मदाह का असली कारण क्या है?. इस मामले पर श्रीवास्तव ने कहा, ‘प्रजापति के पास से CAA, NPR और NRC के विरोध में साहित्य मिला. लेकिन अभी निर्णायक तौर पर नहीं कहा जा सकता कि उन्होंने इसी वजह से ये कदम उठाया. जांच जारी है, हम जल्दी ही पता कर लेंगे कि असली कारण क्या था.’

गंभीर हालत के चलते मौत से पहले प्रजापति का बयान भी नहीं लिया जा सका। प्रजापति के परिवार वाले काफी सदमे में हैं। परिवार वालों के अनुसार परिवार में कोई भी तनाव नहीं था और वो सबका बहुत ख्याल रखने वाले व्यक्ति थे।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …