देश में कोरोना के साथ लोगो के हाहाकार का संकट: दिल्ली मुंबई के बाद अब, बंगाल में 400 परिवारों ने ब्लॉक किया हाईवे

बुधवार सुबह मुर्शिदाबाद जिले के डोमकल नगर पालिका इलाके में सैकड़ों लोगों दवारा एक राज्य हाईवे को तीन घंटे के लिए ब्लॉक किया गया। जमा हुए लोगों का आरोप था कि, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस दावे के बावजूद कि राज्य में अनाज की कोई कमी नहीं है और गरीबों को मुफ्त में अनाज दिया जा रहा है, उन्हें पिछले बीस दिनों में राशन नहीं मिला है।

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार करीब 400 परिवार, जिन्होंने बहरामपुर-डोमकल राज्य हाईवे को लॉकडाउन के आदेशों का उल्लंघन करते हुए ब्लॉक किया, जिसमे कई महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे. अधिकतर प्रदर्शनकारी मास्क नहीं पहने हुए ते और न ही सामाजिक दूरी को लेकर जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पालन कर रहे थे।

प्रदर्शनकारियों ने तभी अपनी नाकेबंदी खत्म की जब स्थानीय प्रशासन ने दखल दिया. लेकिन नाकेबंदी खत्म करने से पहले उन्होंने डोमकल नगर पालिका के अध्यक्ष से यह स्वीकार करवाया कि राशन डीलर्स ने गरीबी रेखा से नीचे (BPL)परिवारों की खाद्य आपूर्ति का कोटा नहीं बांटा था। हर राशन कार्ड धारक को एक महीने में पांच किलो चावल और पांच किलो आटा मिलना चाहिए।

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में पिछले हफ्ते राज्य के खाद्यान्न और आपूर्ति मंत्री ज्योतिप्रियो मलिक ने कहा था कि, बंगाल में चावल की कोई कमी नहीं है. हमारे पास स्टॉक में 9.45 लाख मीट्रिक टन चावल है इसके अलावा करीब 4 लाख मीट्रिक टन चावल मिलों में रखा हुआ है. हमारे पास लोगों को अगस्त तक खिलाने के लिए पर्याप्त चावल है. हमारी सरकार फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया से चावल नहीं लेती है. हम इसे सीधे किसानों से खरीदते हैं.

बंगाल के खाद्यान्न और आपूर्ति मंत्री ज्योतिप्रियो मलिक ने कहा था कि, “प्रशासन ने कुछ राशन डीलर्स पर दुकान न खोलने और लोगों को उनका पूरा कोटा ने देने के चलते एक्शन भी लिए हैं.”

बुधवार को महादेब दास, जो कि डोमकल नगर पालिका के वार्ड नं 10 के एक निवासी हैं, उन्होंने कहा, “दुलाल साहा, हमारे इलाके के राशन डीलर ने, कुछ परिवारों में से प्रत्येक को पिछले दो हफ्तों में एक किलो चावल दिया है. यह 4-5 लोगों के परिवार को खिलाने के लिए काफी नहीं है.”

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …