दिल्ली हाई कोर्ट ने निर्भया आरोपियों के डेथ वारंट पर, रोक लगाने से किया इनकार

निर्भया गैंगरेप मर्डर केस में नए नए मोड़ सामने आ रहे हैं। इस मामले में हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के उस आदेश को टालने से इनकार कर दिया जिसमें डेथ वारंट जारी किया गया है। इस मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने निचली अदालत जाने के लिए कहा, कोर्ट ने कहा कि मामले को लटकाने के मकसद से देरी की गई। कोर्ट ने कहा कि ऐसा लगता है कि याचिका का मकसद केस को लंबा खींचा जाना है।

इस दौरान दिल्ली हाई कोर्ट दवारा मुकेश के वकील को पटियाला हाउस कोर्ट जाने को कहा गया है। हाई कोर्ट में मुकेश की याचिका पर सुनवाई नहीं की जाएगी। मुकेश ने अपनी याचिका में मुकेश की तरफ से ट्रायल कोर्ट ओर से जारी डेथ वारंट के खिलाफ अपील की थी। सुनवाई के दौरान बुधवार को मुकेश के वकील ने कहा कि 7 जनवरी को जब ट्रायल कोर्ट ने फांसी का आदेश जारी किया तो उन्हें क्यूरेटिव पेटिशन के बारे में जानकारी नहीं थी, जिसकी वजह से अब हालात पूरी तरह से बदल चुके हैं।

राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका पर फैसला देने के बाद आरोपियों को 14 दिन का वक्त देना होगा। सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की पीठ ने मंगलवार को मुकेश की क्यूरेटिव याचिका खारिज कर दी थी। 18 दिसंबर को तिहाड़ जेल अथॉरिटी ने सभी दोषियों को नोटिस जारी कर दिया है।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …