डर के साए में दिल्ली, पुलिस का दावा हर तरफ अमन, दो नालो से बरामद हुए 3 शव, 254 FIR दर्ज

रविवार को यमुनापार के नाले से तीन लाशें बरामद होने के बाद उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में मरने वाले की संख्या बढ़कर 45 हो गई है। लाशें गोकुलपुरी और भागीरथी बिहार के नालों से बरामद की गई है। दिल्ली पुलिस के बयान के अनुसार अभी तक दिल्ली हिंसा को लेकर 254 एफआईआर दर्ज हुए हैं जबकि इनमें 41 मामले आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज हैं।

दिल्ली हिंसा में कुल 903 लोगों को गिरफ्तार किया गया है पिछले 4 दिनों से हिंसा ग्रस्त इलाकों से कोई भी पीसीआर कॉल नहीं आई है। रविवार की सुबह उत्तर पूर्वी दिल्ली में स्थिति शांतिपूर्ण रही। सुरक्षा के मद्देनजर हिंसा प्रभावित इलाकों में बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।

वही मीडिया से बात करते हुए एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया है कि, “स्थिति अब नियंत्रण में है। उत्तरपूर्वी जिले के सभी इलाकों में पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात हैं। हम लोग स्थानीय लोगों से बातचीत कर रहे हैं और उनमें आत्मविश्वास पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं।”

उत्तर पूर्वी दिल्ली के लोगों से दिल्ली पुलिस लगातार सोशल मीडिया पर आने वाली अफवाहों पर ध्यान ना देने की अपील कर रही है। इसके अलावा इसके बारे में अधिकारियों को जानकारी देने की बात कह रही है। पुलिस के कार्यवाहक चीफ एसएन श्रीवास्तव ने शनिवार को कार्यभार संभालने के बाद कहा कि उनकी प्राथमिकता इलाके में शांति बहाल करना और राजधानी में संप्रदायिक सद्भाव सुरक्षित करना प्रमुख है।

बतादें कि दिल्ली पुलिस के पूर्व आयुक्त अमूल्य पटनायक के सेवानिवृत्ति होने के बाद एसएन श्रीवास्तव को दिल्ली पुलिस आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। बतादे कि उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, चांदबाग, शिव विहार, बाबरपुर, भजनपुरा, यमुना विहार में हुई हिंसा में मिलाकर 42 लोगों की मौत हुई जबकि 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …