डीएम B Chandrakala ने सोशल मीडिया पर ली चुटकी लिखा, ‘सुनो, ऐ सरकारें हत्यारी, तुम, जाने की, करो तैयारी’

0
490

यूपी में अखिलेश सरकार में मेरठ की डीएम बी चंद्रकला आजकल खनन घोटाले को लेकर सीबीआई का सामना कर रही है। और इस सिलसिले में 5 जनवरी 2019 को सीबीआई उनके लखनऊ स्थित आवास पर छापा भी मार चुकी है।

तब से बी चंद्रकला सोशल मीडिया पर कई कविताये लिख चुकी है। इसी क्रम में बी चंद्रकला ने लिंक्डइन पर एक कविता एक हफ्ते पहले पोस्ट की थी। जिसे 1097 लाइक तथा 147 लोगों ने कमेंट किया है। बहुत से यूजर उन्हें सब्र से काम लेने की सलाह दे रहे है तो कई ने इस जाँच को राजनीति से प्रेरित बताया।

कविताएँ कुछ इस प्रकार है:-

मेरे प्यारे दोस्तों,
आज मैं आप से एक व्यंग्यात्मक कहानी’ भारतीय राजनीति में एलियन इरा’ से उद्धरण साझा कर रही हूँ:
“दोस्तो, भारतीय राजनीति ने फटे कुर्ते से लेकर लाखों के सूट तक के तमाम अच्छे दिन देख चुकी है, लेकिन भारतीय जवानी आज भी समस्याओं के दलदल में फंसी कराह रही है।। राजनीति ने हमें’ 0=100 जानें’ का गणित भी सिखाया; कालेधन का साँप दिखाते-दिखाते, मदारी ने सौ जानें ले ली। राजनीति की कॉमेडी, असल में ट्रेजडी होती है।।
आगे लेखक कहता है, हमारा देश गांधी का देश है, गांधी मतलब, लोकतंत्र की आँधी: बदलाव की हर पटकथा, जनसैलाब ही लिखती है।।—-अधिक से अधिक संख्या में मतदान करें,

“सुनो, ऐ सरकारें हत्यारी,
तुम, जाने की, करो तैयारी।।
कण-कण में हम आंधी हैं,
हम भारत के, गांधी हैं।।
लोकतंत्र का एक निशान,
जन-गण-मन का करो, सम्मान।।
लोकतंत्र की एक कसौटी,
कण-कण फैले जीवन-ज्योति।।”
“जमीर जो कहे, वही कर,
जालिम कहाँ डरता है जो, तू किसी से डर।।
हर तूफान को पता है, हम आसमान हैं,
वक्त के सीने पर मुकम्मल निशान हैं;
अपने रास्ते पर चल, हर रंग तेरी है,
ये धरती तेरी है, ये गगन तेरी है,
हर गुल तेरी है कि, ये गुलशन भी तेरी है।।
जमीर जो कहे, वही कर,
जालिम कहाँ डरता है जो, तू किसी से डर।।”
,,,,,प्रस्तुत अंश राकेश कुमार जी की पुस्तक ‘भारतीय राजनीति में एलियन इरा’ से उद्धृत है।।
—आपकी चंद्रकला।।

Loading...